विक्रम बनेटा, रोहतक। प्रदेश में ओमिक्रोन वैरिएंट के सात नए केस सामने आए हैं। सात में से पांच लोग करनाल जिले से व दो लोग सिरसा के रहने वाली है। वीरवार को एमडीयू की जीनोम सीक्वेसिंग लैब की ओर से पहली रिपोर्ट में यह आंकड़ा सामने आया है। जीनोम सीक्वेसिंग लैब ने पहली बार में 103 केसों का आंकड़ा जारी किए हैं। जिसमें से 39 प्रोजेक्ट के सैंपल हैं, जिन्हें इसमें शामिल नहीं किया गया। बाकी के 63 सैंपल में सात ओमिक्रोन व 57 डेल्टा वैरिएंट के केस मिले हैं। जिससे साफ हो गया है कि ओमिक्रोन केस भले ही बढ़ रहे हों लेकिन प्रदेश में अभी भी डेल्टा वैरिएंट ही हावी है।

पीजीआइ के 14 कर्मचारी कोरोना संक्रमित, 63 सैंपल में से सात ओमिक्रोन व 57 केस मिले डेल्टा वैरिएंट 

पीजीआइ रोहतक के चिकित्सकों सहित 14 कर्मचारी वीरवार को कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। जिसमें न्यूरोलाजी विभाग की सीनीयर प्रोफेसर, कम्यूनिटी मेडिसिन के प्रोफेसर, पैथोलाजी विभाग के एक चिकित्सक व गायनी विभाग के तीन पीजी सहित 14 कर्मचारी शामिल हैं। पीजीआइ में के डे केयर सेंटर में तीन मरीजों को आक्सीजन पर रखा गया है। वहीं आइसोलेशन वार्ड 26 में एक मरीज भर्ती है।

स्वास्थ्य विभाग टीमों ने लगाई 16193 वैक्सीन डोज

रोहतक में 15 से 17 आयु वर्ग के वैक्सीनेशन अभियान में चौथे दिन जोश देखने को मिला। वैक्सीनेशन अभियान के दौरान वीरवार को 5765 किशोरों ने वैक्सीन लगवाई। जिले के निजी स्कूलों में वीरवार को स्वास्थ्य विभाग की टीमें पहुंची व वहां पर किशोरों को वैक्सीन की पहली डोज लगाई गई। जिले में चार दिन के दौरान 11573 किशोरों को वैक्सीन डोज लगाई जा चुकी है।-एक दिन में रिकार्ड 16193 वैक्सीन डोज टीकाकरण अभियान के तहत अब तक 1367574 डोज दी जा चुकी है। जिले में वीरवार को 16193 व्यक्तियों को कोरोनारोधी टीका लगाया गया। इनमें से 11836 व्यक्तियों को प्रथम डोज व 4357 व्यक्तियों को दूसरी डोज लगाई गई। हेल्थ केयर वर्कर को अब तक 25161 डोज, फ्रंटलाइन वर्कर को 15901 डोज दी जा चुकी है। इसी प्रकार 15 से 17 आयु वर्ग में अब तक 11573 डोज लगाई जा चुकी हैं। उन्होंने बताया कि 18 से 44 आयु वर्ग में 805430 डोज व 45 से 60 आयु वर्ग में 285575 डोज व 60 वर्ष या इससे अधिक आयु वर्ग में 223934 डोज लगाई जा चुकी हैं।

Edited By: Naveen Dalal