हिसार, जेएनएन। जनता की शिकायत पर मेयर के सामने एसई और एक्सईएन ने 3 माह पहले ड्रेनेज साफ करवाने का दावा किया। उस दावे की पोल शनिवार को जनता के बीच खुल गई। मेयर के आदेश पर अर्बन एस्टेट की ड्रेनेज सफाई की समस्या का समाधान करने पहुंचे एक्सईएन ने अपने नेतृत्व में करीब पौने घंटे कर्मचारियों से नाले की सफाई करवाई। हैरान करने वाली बात यह है कि पौना घंटा कर्मचारी जिस नाले की सफाई कर रहे थे वह ड्रेनेज ही नहीं थी। निगम अफसरों को जनता ने आईना दिखाते हुए कहा कि साहब ड्रेनेज यहां नहीं, वह तो दुकानों के चबूतरों के पास है। कभी एसी से बाहर आओ तो पता चले। अफसर रविवार को ड्रेनेज सफाई का आश्वासन देकर लौटे। उधर ठेकेदार ने ¨जदल चौक की ड्रेनेज अपने टेंडर में न होने की बात कहते हुए निगम अफसरों को ही ड्रेनेज चोक होने का दोषी ठहरा दिया।

मेयर के सामने सफाई करवाने का दावा, ड्रेनेज का पता तक नहीं
जनता से काम करने के दावे कर कैसे बरगलाया जाता है, इस हकीकत को अर्बन एस्टेट के ड्रेनेज मामले ने जनता के सामने ला दिया है। ड्रेनेज का टेक्निकल रूप से अफसरों को पता तक नहीं और मेयर के सामने सफाई के बड़े-बड़े दावे कर डाले। पौना घंटे तक कर्मचारियों ने ड्रेनेज सफाई के नाम पर वो नाले साफ करवाए जो ड्रेनेज थे ही नहीं। इससे पता चलता है कि अफसर कागजों में विकास कार्य कर कैसे जनता का पैसा बर्बाद कर रहे हैं। जनता का लाखों रुपये विकास के नाम पर खर्च कर जनता को सहुलियत तक नहीं दे पा रहे हैं।

सेक्टरवासी बोले : तीन दिन में तीन अफसरों ने दिए तीन आश्वासन और ड्रेनेज साफ करने के दिन नहीं आए वीरवार को सीएसआइ सुभाष सैनी :- अर्बन एस्टेट के अंदरुनी हिस्से में बनी ड्रेनेज देखी, उसमें ठहरा पानी देखा। फिर बोले ठेकेदार से बातचीत हो गई। मशीन से साफ करवा देंगे। उसके बाद उस दिन न मशीन आई न अफसर। . शुक्रवार को एएसआइ सुरेंद्र :- 10 मिनट तक ड्रेनेज देखी। हां-हां मशीन से ड्रेनेज साफ करवाएंगे। आज ¨चता मत करना। कहकर एएसआइ लौटा। उसके साथ आए 3-4 सफाई कर्मियों ने करीब 20 मिनट सफाई करके चले गए। फिर न मशीन आई न एएसआइ। . शनिवार को एक्सईएन एचके शर्मा :- पौने घंटे अर्बन एस्टेट के अंदरुनी ड्रेनेज देखी। ¨जदल चौक से निरंकारी रोड पर नाली साफ करवाई और बोले ड्रेनेज साफ कर देना मैं आता हूं। हैरानी की बात यह है कि एक्सईएन जिस नाले को साफ करवा रहे थे वह ड्रेनेज ही नहीं थी। लोगों ने बताया तो उन्हें पता चला की दुकानों के चबूतरों के नीचे ड्रेनेज है। सीनियर सिटीजन कर रहे आमरण अनशन की तैयारी हिसार की विडंबना देखिए मानसून के डर से सीनियर सिटीजन आमरण अनशन की तैयारी कर रहे हैं। वह भी किसी बड़े परिवर्तन के लिए या अपने व्यक्तिगत किसी स्वार्थ के लिए नहीं बल्कि जनता की मुलभूत सुविधाओं के लिए अनशन की प्ला¨नग हो रही है।

मौके पर मौजूद बुजुर्ग व दुकानदार बोले
निरंकारी रोड से डाबड़ा चौक मार्ग के दुकानदार यशपाल ने कहा 1996 से यहां हूं। अफसरों को नाली साफ करवाते देखा तो हैरान हूं। इन्हें ये तक नहीं पता कि ड्रेनेज कहां है तो सफाई क्या करवाएंगे। मैंने उन्हें बताई और दिखाई की ड्रेनेज कहा है। हालांकि यह ठप्प पड़ी है। करीब एक साल में पहली बार देखा है कि कोई ड्रेनेज साफ करने आए हैं। . करीब 70 वर्षीय अर्बन एस्टेट निवसी विरेंद्र आर्य बोले कि 25 साल से देख रहा हूं। आज तक अर्बन एस्टेट की ड्रेनेज पूरी साफ नहीं हुई। अब तो लगता है मरने से पहले इस नाले को साफ करवाने के लिए आमरण अनशन पर ही बैठना पड़ेगा। यदि सालाना लाखों रुपये तनख्वाह लेने वाले इन अफसरों ने ड्रेनेज साफ नहीं करवाई तो मैं आमरण अनशन पर बैठूंगा। . अर्बन एस्टेट निवासी बुजुर्ग महेंद्र ¨सह बोले निगम में भ्रष्टाचार की बू आ रही है। लगता है सरकार की अफसरों से सांठगांठ है।

ठेकेदार ने कहा मेरी- जिम्मेदारी अर्बन एस्टेट तक, ये काम निगम का
मेयर के आदेश के बाद भाजपा नेता व ठेकेदार रतन सैनी भी अफसरों के साथ मौके पर पहुंचा। उसने ड्रेनेज दिखाकर कहा कि ड्रेनेज में कचरा नहीं है। जो पानी ठहरा है वह अर्बन एस्टेट से आगे डाबडा चौक तक निकासी न होने के कारण है। इसमें मेरा कसूर नहीं है। रही बात टेंडर की तो मेरे पास सफाई का था। पुराने हिसाब से ही मैं अपना काम कर रहा हूं। जबकि मैंने जीटी तक अतिरिक्त साफ करवाई है। यदि ड्रेनेज क्लियर करके देंगे तो यह पानी भी निकल जाएगा। जनता के बीच ठेकेदार की बता अफसरों ने भी मानी। अब ड्रेनेज साफ करवाने का आश्वासन दिया है।

--एक्सईएन के आदेश पर मौका देखने आया हूं। ड्रेनेज को चैक किया जाएगा। जहां भी बंद है उस ब्लॉकेज को खोलकर ड्रेनेज साफ करवाई जाएगी। इसके लिए सीएसआइ और कर्मचारियों को कहा गया है।
प्रवीन कुमार, एमई, नगर निगम हिसार।

-- बुजुर्ग ड्रेनेज साफ करवाने की मांग लेकर मेरे पास आए थे उसी दिन एसई और एक्सईएन को ड्रेनेज साफ करने के आदेश दे दिए थे। एक्सईएन ने मौके का निरीक्षण कर ड्रेनेज साफ करवाने की बात कही है, ड्रेनेज साफ करवाई जाएगी। - गौतम सरदाना, मेयर नगर निगम हिसार।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप