हांसी, जेएनएन। लूट की झूठी वारदात की विचित्र कहानी रचकर आभूषण व्यापारी के 49.50 लाख रुपये हड़पने वाले दोनों दोस्तों को पुलिस ने बुधवार को फिर तीन दिनों के रिमांड पर कोर्ट से हासिल किया है। तीन दिनों के रिमांड के दौरान पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल की गई गाड़ी बरामद कर ली है लेकिन 13 लाख रुपये अभी पुलिस बरामद नहीं कर सकी है। इसी के चलते पुलिस ने बुधवार को कोर्ट से दोनों आरोपितों का तीन दिनों का और पुलिस रिमांड मांगा जिसे अदालत ने मंजूर कर दिया।

गौरतलब है कि बीते गुरुवार की रात दिल्ली से हिसार में आभूषणों की डिलीवरी करके वापिस लौट रहे एफसी ज्वैलर्स के कर्मचारी ने 49.50 लाख रुपये लूटने की झूठी कहनी रचकर पुलिस को गुमराह करने का प्रयास किया था। लेकिन पुलिस ने अगले दिन ही घरोंड़ा निवासी ज्वेलर कर्मचारी गौरव व उसके दोस्त दुष्यंत को इस मामले में गिफ्तार कर लिया था व उनके कब्जे से 36.50 लाख रुपये बरामद किए थे। पूछताछ में दोनों ने खुलासा किया था कि उन्होंने लूट की झूठी कहानी गढ़ी थी जिसके बाद पुलिस ने दोनों दोस्तों को तीन दिनों के रिमांड पर लिया था।

ज्वेलर्स शोरूम में काम करने करने वाले गौरव ने अपने दोस्त दुष्यंत का कर्ज उतारने के लिए 49.50  लाख की लूट की झूठी कहानी बनाई थी। तीन दिनों के रिमांड के दौरान पुलिस ने वारदात को अंजाम देने में इस्तेमाल की गई गाड़ी भी बरामद कर ली है लेकिन बकाया 13 लाख रुपये अभी तक पुलिस बरामद नहीं कर पाई है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि दुष्यंत ने जिस व्यक्ति को मकान के एवज में 13 लाख दिए थे वो व्यक्ति भी फरार चल रहा है।

विदेश भेजने के नाम पर 6.50 रुपये लाख ठगे, दो किए गिरफ्तार

विदेश भेजने के नाम पर लाखों रुपये की धोखाधड़ी करने के मामले में नामजद दो आरोपितों को पुलिस ने पांच महीने बाद गिरफ्तार कर लिया है। दोनों कबूतरबाजों को एक दिन के पुलिस रिमांड के बाद कोर्ट में पेश किया गया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

इसी साल बीते जून महीने में जगदीश कॉलोनी निवासी जसवीर कौर ने कोर्ट में याचिका दायर कर आरोप लगाया था कि उसके बेटे को विदेश भेजने के नाम पर दिल्ली निवासी तीन लोगों ने 6.50 लाख रुपये लिए थे। लेकिन बाद में उसके बेटे को विदेश नहीं भेजा गया। इस मामले में कोर्ट के आदेशों पर पुलिस ने दिल्ली निवासी जितेंद्र उर्फ दीपू, राजू भल्ला व सुरेंद्र कौर के खिलाफ धोखाधड़ी व अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया था।

जसवीर कौर ने कहा था कि उसने कर्ज लेकर 6.50 लाख रुपये इन कबूतरबाजों को दिए थे। हालांकि बाद में करीब दो लाख रुपये आरोपितों ने शिकायतकर्ता को वापस लौटा दिए थे। लेकिन बकाया 4.50 लाख रुपये देने से इंकार कर दिया था व पैसे वापिस मांगने पर जान से मारने की धमकी दे रहे थे।

 

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस