हिसार, जेएनएन। एड्स रोगियों के लिए काम करने वाले कर्मचारियों ने कहा उन्हें भी कोरोना योद्धा माना जाए। हिसार -हरियाणा राज्य एड्स नियंत्रण कर्मचारी एसोसिएशन के पूर्व राज्य प्रधान बलकार सिंह पुनिया ने मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री व स्वास्थ्य विभाग के उच्च अधिकारियों से मांग की है कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की तरह एड्स कर्मचारियों को कोरोना योद्धा मानते हुए पांच हजार रुपये की  प्रोत्साहन राशि का लाभ दिया जाए।

बलकार सिंह पुनिया ने बताया कोरोना के समय एड्स विभाग के काउंसिलर व लैब टेक्नीशियन ने अपनी भूमिका बहुत ईमानदारी से निभाई है। काउंसिलर ने जहां कोरोना से ग्रसित लोगों को काउंसिलिंग से उन्हें कोरोना से लड़ने की हिम्मत दी और आइसोलेशन वार्ड जैसे हाई रिस्क एरिया में अपनी ड्यूटी दी है। लैब टेक्नीशियन ने कोविड सैंपलिंग में दिन व रात अपनी ड्यूटी दी है। 

कोरोनाकाल में घर पहुंचाईं दवाइयां

उन्होंने कहा कि कोरोना काल मे एचआइवी से ग्रसित मरीजों को जो किसी कारण से दवाई लेने नही आ सके, उनको घर पर दवाई पहुंचाने का कार्य किया है। एड्स से जागरूकता अभियान में भी एड्स कर्मचारियों ने बहुत अच्छा कार्य किया है। बलकार सिंह पुनिया ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग में कार्य कर रहे सभी अनुबंधित कर्मचारियों को सर्विस बाय ला बने हुए है। पर एड्स कर्मचारियों को अभी तक इनमें से किसी का भी लाभ नही मिला है। हरियाणा सरकार से अनुरोध है कि स्वास्थ्य विभाग की एक छोटी सी कैटेगरी को भी सभी प्रकार के  लाभ  दिए जाएं।

अस्पतालों से लेकर सीएचसी पर करते काम 

बलकार सिंह पुनिया ने बताया कि एड्स विभाग के कर्मचारी जिला स्तर के अस्पताल से लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर भी काम करते हैं। इससे इनका सीधा जुड़ाव जनता के साथ है। एड्स कर्मचारियों की संख्या 500 के लगभग है। इससे एड्स  नियंत्रण में कर्मचारी दोगुने जोश से काम करेंगे।

हिसार की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Edited By: Umesh Kdhyani