हिसार, जेएनएन। प्रदेश सरकार ने खिलाडिय़ों पर एक और चाबुक चलाते हुए पुलिस भर्ती में उनके कोटे पर कैंची चला दी है। पुलिस भर्ती में खेल कोटे को समाप्त करने से प्रदेश के प्रतिभावान खिलाडिय़ों के पुलिस वर्दी पहनने को सपने को न केवल चकनाचूर कर दिया है बल्कि अनेक खिलाडिय़ों को रोजगार से वंचित कर दिया है। प्रदेश के खिलाडिय़ों के भविष्य को देखते हुए सरकार को तुरंत प्रभाव संशोधन करते हुए खिलाडिय़ों के पहले ही जारी तीन फीसद भर्ती कोटे को बहाल करे।

यह मांग जेजेपी नेता दुष्यंत चौटाला ने प्रदेश सरकार से की है। दुष्यंत चौटाला नारनौंद हलके के गांवों में कई स्थानों पर विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल हुए। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार ने पुलिस विभाग में विभिन्न पदों के लिए करीबन 7 हजार पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया है। परंतु पदों की विभिन्न श्रेणियों में कहीं भी खिलाडिय़ों के लिए सीटें आरक्षित नहीं हैं।

पहले पुलिस भर्ती के विभिन्न पदों पर तीन फीसद पद खिलाडिय़ों के लिए आरक्षित करने का प्रावधान था। प्रदेश सरकार ने इस प्रावधान को समाप्त कर दिया है जिसका सीधा असर खिलाडिय़ों को मिलने वाले रोजगार पर पड़ा है। पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि भाजपा सरकार ने हरियाणा के खिलाडिय़ों को पूर्णत: उपेक्षित कर रखा है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस