हिसार, जेएनएन। अर्बन एस्टेट में 65 वर्षीय सतबीरी देवी की बाइक सवार दो नकाबपोशों ने हत्या कर दी। उन्होंने बुजुर्ग महिला पर गोली चलाई। साथ ही चाकू से पेट और गर्दन पर कई वार किए। बुजुर्ग की बड़ी बहू निर्मल कौर ने अपने देवर राजेश धनखड़ पर हत्या करवाने का आरोप लगाया है। मृतक सतबीरी का छोटे बेटे राजेश के साथ प्रॉपर्टी को लेकर काफी समय से विवाद चल रहा था। हत्या के बाद नकाबपोश बाइक सवार दोनों युवक मौके से फरार हो गए।

बुजुर्ग पर हमला होते ही उनके साथ घूम रही पड़ोसन ने परिवार को भागकर घटना की जानकारी दी। घटनास्थल के नजदीक एक मकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में पूरा घटनाक्रम कैद हुआ है। महिला की हत्या की सूचना मिलने के बाद डीएसपी, सीआइए टीम सहित भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा। लेकिन बदमाशों का कुछ पता नहीं चल सका। पुलिस को मौके से एक जिंदा कारतूस भी मिला है।  महिला को शहर के निजी अस्पताल में ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

पुलिस के अनुसार सतबीरी देवी मूल रूप से टोकस गांव की रहने वाली है। सालों से वह अर्बन एस्टेट में रही रहती है। दो साल पहले छोटे बेटे राजेश के साथ प्रॉपर्टी को लेकर विवाद ज्यादा होने के कारण वह अपने बड़े बेटे रमेश धनखड़ के पास रह रही थी। सतबीरी देवी ने पिछले करीब दस दिन से ही पड़ोस में अपनी एक गांव की महिला मित्र के साथ घूमना शुरू किया था।

सीसीटीवी में कैद हुई वारदात

रविवार रात करीब सवा 9 बजे सतबीरी देवी हर रोज की तरफ घूमने के लिए निकली और 1390 मकान के पास पहुंची थी। सीसीटीवी फुटेज में उसी दौरान बाइक सवार दो नकाबपेश उनके पीछे से आते दिखाई दे रहे हैं और मुख्य सड़क के पास बाइक रोक कर महिलाओं से कुछ पूछते हंै। बदमाशों को देखकर सतबीरी देवी व उनकी महिला मित्र पीछे की तरफ भागती हैं। एक युवक सतबीरी देवी का पीछा करता है और उन्हें गोली मारता है। इसके बाद महिला 20 फीट दूर जाकर गिर जाती है। बाद में एक बदमाश महिला पर चाकू से कई वार करता है। इस दौरान मृतक के साथ घूमने आई महिला एक डंडा उठाकर हमला करती है, लेकिन बदमाश पिस्तौल दिखाकर उसको दूर कर देते हैं। उसके बाद बाइक पर उसी दिशा में फरार हो जाते हैं, जहां से वह आए थे।

मकान, फैक्टरी को लेकर चल रहा विवाद

मृतक बुजुर्ग की बड़ी बहू निर्मल कौर ने बताया कि अर्बन एस्टेट में 491 नंबर मकान और सेक्टर 27-28 में 2500 गज की एक गत्ता फैक्ट्री सतबीरी देवी के नाम हैं। इनको राजेश अपने नाम करवाना चाहता था। पिता इंद्र ङ्क्षसह धनखड़ की 2007 में मौत होने के बाद से ही प्रॉपर्टी पर विवाद शुरू हो गया था। उसकी सास अपने बेटे राजेश के नाम वह प्रॉपर्टी नहीं कर रही थी। इसको लेकर कोर्ट में भी केस चल रहा है। निर्मल ने आरोप लगाया कि करीब दो साल पहले उनकी सास के साथ देवर ने काफी मारपीट की थी। जान से मारने का प्रयास किया और घर से निकाल दिया था। उसके बाद से वह उनके पास रह रही थी। पहले तो वह घर से नहीं निकलने देते थे लेकिन अब करीब दस दिन से ही वह घूमने जाने लगी थीं। निर्मल ने देवर राजेश पर आरोप लगाया कि वह नशा करता है और काफी मुकदमें भी उस पर दर्ज हैं।

बहू बोली-मैं भी पीछे-पीछे घूमने निकली थी

मृतक की बड़ी बहू निर्मल कौर ने बताया कि वह अपनी सास के पीछे ही घूमने के लिए निकली थी। वह उससे काफी पीछे थी। कुछ देर बाद पड़ोस की महिला उसके पास भाग कर आई और बोली कि दो नकाबपोशों ने सतबीरी को गोली मार दी। चाकू मार दिए। वह उसी समय भागी और घटनास्थल पर पहुंची।

 

---मामले की जांच कर रहे हैं। साक्ष्य जुटाकर जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार किया जाएगा।

- अशोक कुमार, डीएसपी, हिसार

Edited By: Manoj Kumar