रोहतक, जागरण संवाददाता। रोहतक के जसिया गांव में एक माह पहले सड़क हादसे में युवक की मौत के मामले में स्वजनों की तरफ से सदर थाने में अब केस दर्ज कराया गया है। आरोप है कि आरोपित ने उस समय अपनी गलती मान ली थी, जिस कारण उन्होंने शिकायत दर्ज नहीं कराई थी। अब मृतक पक्ष ने पुलिस को हादसे से संबंधित वीडियो सौंपी है, जिसके बाद मामला दर्ज कर लिया गया है। 

पुलिस को दी शिकायत के अनुसार

पुलिस को दी गई शिकायत में घिलौड़ कलां गांव के रहने वाले रमेश कुमार ने बताया कि उसने गोहाना सब्जी मंडी में फलों की दुकान कर रखी है। उसका बेटा सुरेंद्र असोदा रिफाइनरी में मजदूरी करता था। पिछले माह 23 सितंबर की रात वह मजदूरी कर वापस लौट रहा था। इसी दौरान जसिया पावर हाउस के नजदीक सड़क हादसे में वह घायल हो गया। जिसके बाद वह मौके पर पहुंचे और सुरेंद्र को पीजीआइएमएस में भर्ती कराया गया। उपचार के दौरान 24 सितंबर को उसकी मौत हो गई। इसके बाद वहां पर लगे सीसीटीवी कैमरे चेक किए, जिसमें पता चला जिस गाड़ी से एक्सीडेंट हुआ है वह सतेंद्र की थी।

ये था पूरा मामला

गांव में इस बारे में कई बार पंचायत हुई, जिसमें सतेंद्र ने अपनी गलती मानी और कहा कि वह आर्थिक मदद कर देंगा उस पर केसदर्ज ना कराया जाए। तेहरवीं के बाद पीड़ित परिवार ने उससे आर्थिक सहायता के बारे में कहा, जिस पर आरोपित उन्हें बातों में उलझाता रहा। इसके बाद आरोपित ने आर्थिक सहायता देने से मना कर दिया। तब जाकर मृतक के पिता की तरफ से सदर थाने में आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है। साथ ही हादसे की वीडियो फुटेज भी पुलिस को सौंपी गई है। थाना प्रभारी इंस्पेक्टर कुलबीर सिंह ने बताया कि उस समय हादसे को लेकर स्वजनों ने किसी पर कोई आरोप नहीं लगाया था। अब उन्हें शिकायत दी है। जिसके बाद मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

Edited By: Naveen Dalal