जागरण संवाददाता, हिसार: जिला स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की शुक्रवार को लघु सचिवालय में समीक्षा बैठक आयोजित हुई। इसकी अध्यक्षता उपायुक्त अशोक कुमार मीणा ने की। इसमें ऐसे कई मुद्दे उठाए गए जो धुंध के समय सड़क सुरक्षा के लिए जरूरी हैं। शहर में पिछले लंबे समय से खराब चल रहे सीसी कैमरों को लेकर डीसी ने पुलिस विभाग और नगर निगम को साफ कर दिया कि दोनों विभागों को मिलकर ही सीसी कैमरों को सही कराना होगा। यह काम जल्द से जल्द किया जाए ताकि सड़कों पर आने-जाने वाले वाहनों के साथ शहर में बढ़ रही चोरी की घटनाओं पर भी लगाम लगाने में मदद मिल सके। अब तक सीसी कैमरों को लेकर पुलिस विभाग और निगम दोनों में असमंजस की स्थिति बनी हुई थी। डीसी ने पुलिस को यह भी कहा कि बढ़ती चोरियों की वारदातें बड़े अपराधों को जन्म देती हैं। ऐसे में शहर में चिन्हित स्थानों पर पुलिस सिविल ड्रेस में तैनात रहकर निगरानी करे।

गौरतलब है कि दैनिक जागरण ने खराब सीसी कैमरों और बढ़ती चोरियों के मुद्दे को प्रमुखता से प्रकाशित किया था, जिस पर संज्ञान लेते हुए प्रशासन ने पुलिस और नगर निगम दोनों को ही सख्त हिदायतें दीं।

-------------------

नो पार्किंग जोन में पार्किंग की तो क्रेन उठा ले जाएगी गाड़ी

डीसी ने शहर में गलत स्थानों पर वाहन पार्किंग करने वाले चालकों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए। नगर निगम की संयुक्त आयुक्त शालिनी चेतल ने बताया कि इस संबंध में नगर निगम ने कार्ययोजना तैयार की है। इसके अनुसार निगम द्वारा क्रेन का टेंडर लगाया जाएगा। गलत स्थानों पर पार्क वाहनों को क्रेन से उठाया जाएगा। अवैध रूप से वाहन को पार्क करने वाले व्यक्ति से क्रेन के खर्च के साथ-साथ चालान की भी वसूली की जाएगी।

-----------------------

तूड़ी से भरे वाहनों के होंगे चालान

बैठक में उपायुक्त ने साफ कर दिया है कि सड़क को घेरकर चलने वाली तूड़ी-भूसे से भरी ट्रालियों वाले ट्रैक्टर चालकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए एसडीएम की ड्यूटी लगाई गई है। डीसी ने कहा कि विशेषकर रात को ऐसे वाहनों के सड़क पर चलने पर पूर्ण पाबंदी लगाई जाए। यदि रात को ऐसे वाहन चलते दिखें तो उन्हें जब्त किया जाए और इनका चालान करके जुर्माना किया जाए। अंधेरे में चलते ऐसे वाहन दूसरे वाहन चालकों को दिखाई नहीं देते जिससे दुर्घटनाओं की आशंका बढ़ जाती है।

---------------------------

नियम टूटने पर वाहनों के हों चालान

सड़कों पर चलने वाले ऐसे सभी वाहनों पर सख्ती की जाए और उनके चालान किए जाएं जो सड़क सुरक्षा नियमों को तोड़ रहे हैं। उन्होंने ध्वनि व वायु प्रदूषण करने वाले वाहनों के चालान करने के निर्देश पुलिस विभाग को दिए। इसके साथ ही डीसी ने कहा कि जिला में सुरक्षित स्कूली वाहन पॉलिसी की अनुपालना सुनिश्चित की जाए। नियमों की अवहेलना करने वाले वाहन चालकों के चालान करने में कोई ढिलाई न बरती जाए।

---------------------------

सड़क सुरक्षा के लिए अधिकारियों को यह दिए निर्देश

- धुंध के मौसम के मद्देनजर सभी सड़कों पर सफेद पट्टी लगवाई जाए और तेज मोड़ तथा अन्य सभी आवश्यक स्थानों पर रिफ्लेक्टर व संकेतक लगवाए जाएं। सभी ब्रेकरों पर निशान लगवाए जाएं ताकि वाहन चालकों को दूर से ही इसका पता लग सके।

- जिला के सभी ब्लैक स्पोट को ठीक करवाने के निर्देश भी अधिकारियों को दिए।

- बाजारों से पुलिस की मदद से अतिक्रमण हटवाया जाए।

- दुर्घटना में घायल व्यक्तियों की मदद करने वाले लोगों को परेशान न किया जाए बल्कि ऐसे लोगों को पुरस्कृत करके अन्य लोगों को भी दुर्घटनाग्रस्त लोगों की मदद के लिए प्रोत्साहित किया जाए।

- ड्राइविग लाइसेंस के आवेदकों को यातायात नियमों के बारे में जागरूक करने के लिए भी विशेष कार्यक्रम आयोजित किए जाएं।

- वाहनों के प्रदूषण सर्टिफिकेट बनवाने वालों की मशीनों की भी समय-समय पर जांच की जाए।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस