चरखी दादरी, जेएनएन। चरखी दादरी रोडवेज महाप्रबंधक को पत्र भेजकर 50 लाख रुपये की रंगदारी मांगने का मामला सामने आया है। रंगदारी न देने पर महाप्रबंधक को परिवार सहित गोलियों से भूनने की धमकी दी गई है। पत्र के अंत में प्रधान बिश्नोई गैंग लिखा हुआ है। रोडवेज महाप्रबंधक ने उक्त पत्र पुलिस को सौंप दिया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। दादरी रोडवेज डिपो के महाप्रबंधक रविश हुड्डा ने बताया कि सोमवार को जब वे कार्यालय में पहुंचे तो डिपो में डायरी डिस्पेच पर कार्यरत क्लर्क ने उन्हें एक पत्र लाकर दिया। उक्त कर्मचारी ने बताया कि यह पत्र 15 अप्रैल को आया था।

लेकिन उस दिन रोडवेज महाप्रबंधक के छुट्टी पर होने तथा बाद में कार्यालय का अवकाश होने के कारण उसने सोमवार को महाप्रबंधक को यह पत्र दिया। रोडवेज जीएम रविश हुड्डा ने जब पत्र को पढ़ा तो उसमें उनसे 50 लाख रुपये की रंगदारी मांगने की बात लिखी हुई थी। साथ ही यह भी लिखा था कि यदि यह राशि नहीं दी गई तो उन्हें परिवार सहित गोलियों से भून दिया जाएगा। फिरौती की यह राशि 25 अप्रैल को रात आठ बजे गांव मकड़ौली कलां के शमशान घाट में मौजूद व्यक्तियों को देने की बात भी पत्र में लिखी गई है।

पत्र के अंत में प्रधान बिश्नोई गैंग लिखा गया है। पत्र पढ़ने के बाद रोडवेज महाप्रबंधक रविश हुड्डा ने तुरंत दादरी के पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार को मामले से अवगत करवाया। जिसके बाद पुलिस हरकत में आई तथा जांच शुरू की। दादरी सिटी थाना पुलिस ने रोडवेज महाप्रबंधक की शिकायत के आधार पर मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

नहीं है किसी से रंजिश : महाप्रबंधक

दादरी रोडवेज महाप्रबंधक रविश हुड्डा ने बताया कि उनकी किसी से भी रंजिश नहीं हैं। ऐसे में उन्हें ही समझ नहीं आ रहा कि उन्हें धमकी क्यों दी गई है। उन्होंने बताया कि दादरी के पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार ने रोहतक पुलिस अधीक्षक से बात कर उनके परिवार की सुरक्षा के लिए भी पुलिसकर्मियों को तैनात करने की बात कही है।

गहनता से जांच जारी : एसपी

दादरी के पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार ने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। मामले की गहनता से जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि एक पुलिसकर्मी को महाप्रबंधक रविश हुड्डा की सुरक्षा के लिए तैनात कर दिया गया है। एसपी विनोद कुमार ने बताया कि पुलिस द्वारा दादरी बस स्टैंड पर लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच भी की जा रही है। जिससे पता लग सके कि यह पत्र कौन देकर गया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप