हिसार, जागरण संवाददाता। हिसार एयरपोर्ट पर दूसरे चरण के काम तेजी से हो रहे हैं। काम में किसी तरह की कोई रूकावट ना हो इसके लिए सप्ताह में एक बार एयरपोर्ट से जुड़े हर विभागों की रिव्यू मीटिंग करने के आदेश दिए हैं। एयरपोर्ट के लिए 7200 एकड़ जमीन को चारों तरफ से कवर करने के लिए 185 करोड़ से चारदीवारी बनाई जाएगी। इसकी डीपीआइ बनाकर हरियाणा सिविल एविएशन डिपार्टमेंट को भेज दी है। एयरपोर्ट पर करीब 18 किमी लंबी बाउंड्रीवाल बनाई जाएगी। इसकी ऊंचाई करीब आठ फुट ऊंची होगी। इस पर कंटीले घुमावदार तार भी लगाए जाएंगे।

आठ फुट ऊंची बनाई जाएगी 18 किमी लंबी बाउंड्री वाल

हरियाणा सरकार का दावा है कि हिसार में आगामी अक्टूबर 2022 तक अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट संचालित कर दिया जाएगा जिसके तहत हवाई जहाजों का आवागमन शुरू होगा। एयरपोर्ट पर मौजूदा समय में चल रहे रनवे का काम अगले वर्ष मई तक पूरा हो जाएगा। इसी प्रकार हिसार एयरपोर्ट पर आने व जाने के लिए मिर्जापुर व ढंढूर पर क्लोवर कनेक्टीविटी का एक प्रस्ताव तैयार करने की योजना है। क्लोवर कनेक्टिवि के तरह नेशनल हाईवे के साथ ही अन्य मार्ग-आने जाने के लिए बनाए जाते हैं। हिसार एयरपोर्ट पर अंतरराष्ट्रीय फलाइट्स पार्किंग करने की सुविधा उपलब्ध होगी। इसके अलावा, एयरपोर्ट पर दो अलग-अलग टर्मिनलों का भी निर्माण किया जाएगा जिनका दिसंबर के अंत तक डिजाइन तैयार कर दिया जाएगा। इसके अलावा, हिसार एयरपोर्ट पर ट्रेन या मेट्रो की सुविधा देने पर संभावनाएं भी तलाशी जा रही हैं ताकि यात्रियों को किसी भी प्रकार की दिक्कत न हो तथा कारगों की सुविधा भी आसान हो सकें।

एयरपोर्ट पर मैन्युफैक्चरिंग हब भी बनेगा

हिसार एयरपोर्ट पर एक मैन्युफैक्चरिंग हब भी प्रस्तावित करने की योजना है। इससे यहां पर विशेष प्रकार के उद्योग स्थापित हो सकेंगे। इसी प्रकार बालसंमद की कैनाल के डायवर्जन, एयरपोर्ट को स्थापित करने के लिए बिजली स्टेशन की स्थापना व विभिन्न बिजली की लाईनों के शिफ्टिंग की जाएगी।  

हिसार एयरपोर्ट से रायपुर तक कार्गो लाइन की डबल लाइन बिछेगी, डीपीआर तैयार

हिसार एयरपोर्ट से रायपुर स्टेशन तक नई रेलवे कार्गो लाइन बिछेगी। इसके लिए डीपीआर तैयार हो गई। एयरपोर्ट तक डबल लाइन बिछाई जाएगी। हिसार एयरपोर्ट पर द्वितीय चरण का काम चल रहा है। अंतरराष्ट्रीय मानको के हिसाब से यहां रनवे बनाया जा रहा है। भविष्य में यहां कारगो जहाज भी उतरेंगे। माल की लोडिंग और अनलोडिंग के लिए ट्रांसपोर्ट की जरूरत पड़ेगी। इसलिए एयरपोर्ट के एक हिस्से में ड्राई पोर्ट बनाया जाएगा तो वहीं रेल के जरिये भी माल की आवाजाही की जाएगी। इसके लिए रेलवे एयरपोर्ट के नजदीक रेलवे स्टेशन रायपुर तक नई कारगो लाइन बिछाएगा। इसके लिए हरियाणा सरकार के एविएशन डिपार्टनेंट ने 10 लाख की राशि पीडब्ल्यूडी के द्वारा हरियाणा रेल डेवलपमेंट कारपोरेशन को डीपीआर बनाने के लिए दी थी। कंसलटेंसी ने सर्वे कर डीपीआर बनाई थी जिसे रेलवे की मंजूरी मिल गई है।

इन तीन चरणाें में बनेगा एयरपोर्ट

- पहला चरण- 2 साल

- दूसरा चरण- 2 से 5 साल

- तीसरा चरण- 6 से 10 साल

तीसरे चरण में जारी होगी करोड़ों की राशि

तीसरा चरण ए- 572 करोड़

तीसरा चरण बी- 1390 करोड़

तीसरा चरण सी- 1811 करोड़

ऐसे मजबूत होगी कनेक्टविटी

रेल- हांसी-महम रेलवे लाइन प्रोजेक्ट पूरा होने के बाद यहां तेज गति की रैपिड ट्रेनें चलाई जाएंगी। दिल्ली से हिसार की रेललाइन की गति को और बढ़ाया जाएगा। सड़क- एनएच-9 यानि दिल्ली-हिसार नेशनल हाईवे पर ट्रैफिक बढ़ने के साथ इसे आठ लेन तक बढ़ाया जाएगा। एयरपोर्ट पर ड्राई पोर्ट बनाया जाएगा जिससे बड़े ट्रक यहां से सामान को दूसरे राज्यों तक ले जाएंगे इसके लिए सड़क कनेक्टविटी को और मजबूत किया जाएगा।

Edited By: Naveen Dalal