जागरण संवाददाता, रोहतक। जसिया गांव के रहने वाले आटो चालक की हत्या उसके ही दोस्तों ने चाकू से वार कर की थी। सदर थाना पुलिस ने दो आरोपितों को गिरफ्तार कर हत्याकांड का पर्दाफाश किया है। जिन्होंने पार्टी के दौरान कहासुनी के बाद हत्याकांड को अंजाम दिया था। आरोपितों को शुक्रवार को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा। 

आटो चालक था विकास

डीएसपी सज्जन कुमार ने बताया कि जसिया गांव निवासी विकास उर्फ नान्हा आटो चालक था। बुधवार सुबह सूचना मिली थी कि विकास के घर में घुसकर धारदार हथियार से उसकी हत्या कर दी गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव का पोस्टमार्टम के लिए भेजा। इस मामले में विकास के भाई की शिकायत पर पांच नामजद आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। जिसने बताया था कि तड़के करीब तीन बजे विकास घर पहुंचा था। जिसने बताया था कि वह अपने दोस्तों के साथ पार्टी कर रहा था। इसी दौरान उसकी कहासुनी हो गई थी। उस समय रोहित ने उसे जान से मारने की धमकी दी थी। एसपी राहुल शर्मा ने सदर थाना पुलिस के अलावा सीआइए टीम को भी इसकी जिम्मेदारी दी गई थी। पुलिस ने आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज चेक की। जिसके बाद मामले का पर्दाफाश हो गया। 

इस तरह दिया हत्याकांड को अंजाम

सदर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर कुलबीर सिंह ने बताया कि जांच के बाद एसआइ जसवंत सिंह की टीम ने छापेमारी कर आरोपित रोहित और अश्वनी को गिरफ्तार किया। दोनों आरोपित जसिया गांव के ही रहने वाले हैं और विकास के अच्छे दोस्त थे। पूछताछ में पता चला कि मंगलवार रात गांव का ही रहने वाला सचिन घर से बुलाकर विकास को ले गया था। जिसके बाद रोहित, गौरव, अश्वनी, मुनि, विकास और सचिन ने खेतों में बैठकर पार्टी की। वहां पर एक-दूसरे पर रौब गालिब करने के लिए विकास की रोहित के साथ कहासुनी हो गई थी।

इसके बाद सभी वहां से विकास के आटो में बैठकर गांव में आ गए। गांव में आने के बाद विकास अपने घर में नीचे वाले कमरे में सो गया और रोहित व अश्वनी पास के मंदिर में जाकर लेट गए। थोड़ी देर बाद रोहित और अश्वनी ने चाकू का इंतजाम किया और कुछ ही देर बाद विकास के घर पहुंच गए। उन्होंने सोते समय विकास को दबोच लिया और चाकू से वार कर उसे मौत के घाट उतार दिया। हत्याकांड को अंजाम देने के बाद दोनों आरोपित पैदल ही ब्राह्मणवास गांव तक पहुंचे और फिर फरार हो गए थे।

Edited By: Rajesh Kumar