संवाद सूत्र, कुलां : फतेहाबाद में गोरक्षा दल टोहाना व पंजाब के पातडा की टीम ने पुलिस के सहयोग से 12 गोवंश से भरे एक ट्रक को पकड़ा। हालांकि अंधेरे का फायदा उठाकर एक तस्कर भागने में सफल हो गया, लेकिन चालक सहित दो आरोपी पकड़ में आ गए। गो तस्करों के कब्जे से छुड़ाए गए गोवंश को गो रक्षकों ने सुरक्षित फतेहाबाद गोशाला में भेज दिया है। पुलिस ने आरोपितों पर विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया है।

गोरक्षा दल के हिसार जोन के अध्यक्ष गांव धारसूल कलां निवासी राजेंद्र सिंह उर्फ काला ने बताया कि शनिवार रात को उन्हें गुप्त सूचना मिली कि कुछ गोतस्कर पंजाब से गोवंशों को गोकसी के लिए ट्रक में भरकर बाया डिंग मोड़ व फतेहाबाद से होते हुए उत्तरप्रदेश जा रहें हैं। सूचना मिलने पर गो रक्षकों की टीम डिंग मोड़ पर पहुंच गई। इसके साथ ही टीम ने इसकी सूचना जिला पुलिस अधीक्षक व 112 हेल्पलाइन नंबर पर दी। कुछ समय बाद टीम को सूचना में बताया गया यूपी नंबर का ट्रक सामने आता दिखाई दिया। गो रक्षकों ने ट्रक को रुकने का इशारा किया, लेकिन चालक ने ट्रक गो रक्षकों पर चढा़ने का प्रयास किया और तेज गति से ट्रक को फतेहाबाद की ओर भगा लिया।

इस पर गोरक्षा टीम ने ट्रक का पीछा करना शुरू किया और इतने में पुलिस की पीसीआर भी आ गई, जिससे पुलिस ने भी ट्रक का पीछा करना आरंभ कर दिया। ट्रक चालक ने फतेहाबाद से ट्रक को हांसपुर की ओर भगा लिया। इसपर टीम ने हांसपुर चौकी पुलिस को सूचित किया तो चौकी पुलिस ने नाकाबंदी कर दी। ऐसे में ट्रक दोनों तरफ़ से घिर जाने से आरोपितों को हांसपुर में काबू कर लिया। इस दौरान ट्रक में सवार एक व्यक्ति अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में कामयाब हो गया, जबकि चालक सहित दो आरोपित पकड़ में आ गए। जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और ट्रक को पुलिस ने कब्जे में ले लिया है। इस मौके पर गोरक्षा दल से गौरव टोहाना व हनी पातडा सहित कुल 8 गोरक्षक उपस्थित थे।

यूपी के रहने वाले है आरोपित

पुलिस की प्रारंभिक पूछताछ में आरोपितों ने गोवंश को वध करने के लिए उत्तरप्रदेश ले जाने की बात को कबूल किया। आरोपित ट्रक चालक ने अपना नाम अलीजान निवासी यूपी के जिला मुजजफरनगर के गांव साउथ खाला पार नई आबादी बताया, वहीं दूसरे आरोपित की पहचान सोनी निवासी मुझेहडा जिला मुजजफरनगर के रूप में हुईं है।

Edited By: Manoj Kumar