रोहतक, जेएनएन। अपहरण कर दुष्कर्म के मामले में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश आरपी गोयल की कोर्ट ने एक आरोपित की जमानत याचिका मंजूर कर ली है। आरोपित पक्ष की तरफ से कोर्ट के समक्ष सुबूत के तौर पर फोटो पेश किए गए, जिसमें आरोपित और लड़की एक साथ दिखाई दे रहे हैं। वहीं शिकायतकर्ता के बयान भी अलग-अलग पाए गए।

यह था मामला

शहर की एक कालोनी में रहने वाली युवती ने अगस्त माह में थाने में शिकायत दी थी। इसमें युवती ने बताया कि वह शाम के समय पार्क में जा रही थी। इसी बीच काले रंग की कार वहां पर आकर रूकी, जिसमें चार लड़के सवार थे। एक युवक ने उतरकर उसे जबरदस्ती गाड़ी में खींच लिया। इसके बाद आरोपितों ने उसके साथ मारपीट की। कार सवार आरोपितों में सेक्टर-4 का रहने वाला प्रदीप और उसका दोस्त विकास भी थे। आरोपित प्रदीप करीब आठ माह से उसे परेशान कर रहा था। आरोपित उसका अपहरण कर बहादुरगढ़ की तरफ लेकर जा रहे थे। खेड़ीसाध बाईपास के नजदीक कार की स्पीड़ धीमी होने पर वह गाड़ी से नीचे कूद गई और वहां से भागकर अपनी जान बचाई। अर्बन एस्टेट थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपितों को गिरफ्तार किया।

लड़की के थे अलग-अलग बयान, आरोपित ने कोर्ट में पेश किए फोटो

इस प्रकरण में लड़की ने पहले अपहरण, मारपीट और जान से मारने की धमकी का मामला दर्ज कराया था, लेकिन मजिस्ट्रेट के सामने दिए गए बयान में उसने बताया कि उसके साथ प्रदीप ने दुष्कर्म भी किया। जिसके बाद आरोपित प्रदीप पर दर्ज हुए मामले में दुष्कर्म की धारा भी जोड़ दी गई थी। यह मामला अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश आरपी गोयल की कोर्ट में विचाराधीन है। जिसमें आरोपित विकास की पहले ही जमानत हो गई थी। अब आरोपित प्रदीप की तरफ से जमानत याचिका लगाई गई थी। आरोपित पक्ष की तरफ से कोर्ट में फोटो पेश किए गए, जिसमें आरोपित और शिकायतकर्ता लड़की एक साथ दिखाई दे रहे थे। फोटो देखकर कोर्ट ने कहा कि इन्हें देखकर नहीं लगता कि यह दुष्कर्म का मामला है। हालांकि फोटो के बाद लड़की की तरफ से कोर्ट में कहा गया कि शादी का झांसा देकर उसके साथ संबंध बनाए गए हैं, लेकिन लड़की की तरफ से एफआइआर में ऐसा कोई भी जिक्र नहीं किया गया था और न ही मजिस्ट्रेट के सामने दिए गए बयान में शादी की बात आई थी। इन्हीं तथ्यों को देखते हुए कोर्ट ने आरोपित की जमानत याचिका मंजूर कर ली है।

--आरोपित पक्ष की तरफ से कोर्ट के समक्ष फोटो पेश किए गए हैं। जिसमें आरोपित और लड़की एक साथ दिखाई दे रहे हैं। दुष्कर्म का आरोप गलत है। सभी तथ्यों को देखते हुए कोर्ट ने आरोपित प्रदीप की जमानत याचिका मंजूर कर ली है।

- पीयूष गक्खड़, अधिवक्ता आरोपित पक्ष

Posted By: Manoj Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप