हांसी( हिसार) [मनप्रीत सिंह] हरियाणा प्रदेश की 8 फीसद उम्रदराज आबादी को कोरोना वायरस से बचने के लिए अतिरिक्त सतर्कता बरतने की जरूरत है। डब्ल्यूएचओ वर्ल्‍ड हेल्‍थ ऑर्गेनाइजेशन की रिपोर्ट के आधार पर डाक्टरों का कहना है कि इस वायरस का संक्रमण 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों में अधिक देखा गया है। इस उम्र में इम्यून सिस्टम कमजोर होने के कारण वायरस से लडऩे के लिए शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है।

समूचा प्रदेश लॉकडाउन है और कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार द्वारा एडवायजरी जारी की गई है। दुनिया पर कहर बरपा रहे वायरस से बचने के लिए बुुजुर्गों को खास एहतियात बरतने की जरूरत है। 2011 की जनगणना के अनुसार प्रदेश में करीब 21 लाख लोगों की उम्र 60 वर्ष से अधिक है। कोरोना वायरस के चपेट में आने से भारत में जिन लोगों की मौत हुई है उन सभी की उम्र भी 60 वर्ष से अधिक थी।

इसके अलावा वायरस का खतरा तब अधिक बढ़ जाता है जब संक्रमित व्यक्ति हृदय की बीमारी, रक्तचाप, मधुमेह व सांस की किसी गंभीर बीमारी से पीडि़त हो। एनएफएचएस-4 की रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में 20 फीसद आबादी मधुमेह के रोग से पीडि़त है। वहीं, एक रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में विभिन्न बीमारियों से मरने वाले उम्रदराज रोगियों में 34 फीसद हार्ट होगी होते हैं। ऐसे में जाहिर है कि प्रदेश की एक बड़ी आबादी को कोरोना से बचने के लिए अतिरिक्त सतर्कता बरतनी होगी।

युवाओं का इम्यून मजबूत, लेकिन लापरवाही पड़ सकती है भारी

विभिन्न रिपोर्टस के अनुसार उम्र बढऩे के साथ-साथ कोरोना के संक्रमण का खतरा अधिक होता है। कोरोना से ठीक होने वालों में सबसे अधिक तादाद युवाओं की है। लेकिन कई देशों में काफी संख्या में युवा भी इसकी चपेट में आ चुके हैं। ऐसे में युवाओं को लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए व कोरोना वायरस से बचने के लिए विशेष सतर्कता बरतनी होगी।

प्रदेश में उम्रदराज(60 वर्ष से अधिक) लोगों की आबादी

शहरी             ग्रामीण       कुल आबादी

411134      1512891     2193755

2.74 लाख लोगों की उम्र 80 पार

जनसंख्या के आंकड़ों के अनुसार प्रदेश में पौने तीन लाख लोग ऐसे हैं जो 80 साल की उम्र पार कर चुके हैं।

डाक्टरों की सख्त हिदायत है कि इस उम्र के लोगों को बिल्कुल बाहर निकलने से बचना चाहिए। क्योंकि एक रिपोर्ट के अनुसार विश्वभर में कोरोना से मरने वालों की औसतन उम्र 80 वर्ष है। ऐसे में इस आयु का व्यक्ति संक्रमित होता है तो रिकवर करना बहुत मुश्किल हो जाती है।

68 फीसद उम्रदराज लोग गांवों में

प्रदेश में 6841 ग्राम पंचायत हैं, जिनमें कुल उम्रदराज लोगों की 68 फीसद आबादी रहती है। गांवों में प्रौढ़ लोगों की संख्या भी शहरों की अपेक्षा अधिक है। वायरस से बचने के लिए सरकार द्वारा जारी हिदायतें भी सभी ग्रामीणों तक नहीं पहुंच पाती। हालांकि ये वायरस संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से ही फैलता है व गांव के लोगों का शहरी लोगों से संपर्क अपेक्षाकृत कम होता है, जिसकी वजह से प्रदेश के ग्रामीण आंचल में कोविड-19 का अभी कोई मामला सामने नहीं आया है।

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस