फोटो कैप्शन - 11 व 12 स्ट्राम वाटर पाइन लाइन बिछाने में कोताही बरत रहा था ठेकेदार, 2 महीने से काम अधर से लटकने से भी लोग नाराज संवाद सहयोगी, हांसी: जो सरकारी अफसर विधायक के आवास से चंद कदमों की दूरी पर हो रहे निर्माण में कोताही बरत सकते हैं वो अन्य इलाकों में किस क्वालिटी का काम करते होंगे इसका सहज अंदाजा लगाया जा सकता है। बैंक में कॉलोनी में डाली जा रही है स्ट्रॉम वाटर पाइप लाइन में घटिया निर्माण सामग्री की शिकायत पर विधायक मौके पर पहुंच गए और जनस्वास्थ्य विभाग के एक्सइएन की सरेआम जमकर क्लास ली।

दरअसल, एसडी कॉलेज से लेकर खरड़ चुंगी पर स्थित डिस्पोजल तक बरसाती पानी की निकासी के लिए करीब 60 करोड़ की लागत से पाइप लाइन बिछाई जा रही है। विधायक विनोद भयाना के आवास के बिल्कुल निकट से ये पाइप लाइन गुजर रही है। दो महीने से अधिक का समय बीत चुका है, लेकिन काम अभी अधूरा है। पूर्व पार्षद और इलाके के लोगों ने आरोप लगाया है कि पाइप लाइन के नीचे बेड नहीं बनाया गया और निर्माण में जमकर लापरवाही बरती जा रही है। जिसके बाद विधायक विनोद भयाना मौके पर पहुंच गए और एक्सइएन शशिकांत की जमकर क्लास ली। विधाय के गुस्से का आलम देखकर अधिकारी कोई जवाब नहीं दे पाए। विधायक ने मौके पर वीडियोग्राफी भी करवाई।

सरकार के पैसे बर्बाद करने के लिए नहीं

पाइप लाइन के निर्माण कार्य की स्थित देखकर विधायक का पारा चढ़ गया। उन्होंने एक्सइएन को नसीहत देते हुए कहा कि सरकार का पैसा ऐसा बर्बाद करने के लिए नहीं है। काम करवाओ तो बढि़या क्वालिटी का करवाओ, नहीं तो वह ग्रांट वापिस करवा देंगे।

पाइप लाइन की नीचे केवल 1 ट्राली पत्थर बिछाए

कॉलोनी वासियों ने आरोप लगाया कि केवल एक ट्राली पत्थर ही पाइन लाइन की नीचे बेड बनाने के लिए इस्तेमाल किए। जबकि इतनी बड़ी पाइन लाइन में कई ट्राली पत्थर लगनी चाहिये। पाइन लाइन के नीचे बेड की क्वालिटी कमजोर होने से उसके नीचे धसने की आशंका रहती है। क्वालिटी खराब की शिकायत करें लोग

सरकार के पास जनता का ही पैसा होता है जिसे विकास कार्यों में खर्च किया जाता है। सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देश हैं कि वह नियमानुसार काम करें व निर्माण कार्यों में क्वालिटी में हेरफेर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जनता से अपील है कि कहीं क्वालिटी को लेकर कोई शिकायत है तो मेरे कार्यालय को जानकारी दे सकते हैं।

- विनोद भयाना, विधायक

Edited By: Jagran