जेएनएन, हिसार : हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग द्वारा जूनियर सिविल इंजीनिय¨रग के पद के लिए ब्राह्मण समाज पर विवादित प्रश्न पूछने पर हिसार बार एसोसिएशन ने कड़ा रोष जताया है। अधिवक्ता मनोज कौशिक चंद्रवंशी ने मामले को लेकर डीजीपी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के नाम एक शिकायत सौंप कर समाज की ओर से विरोध दर्ज कराया है।

शिकायत में कौशिक ने कहा है कि प्रश्न संख्या 75 में पूछे सवाल - निम्न में से हरियाणा में किसको अपशकुन नहीं माना गया है-खाली घड़ा, फ्यूल से भरा कॉस्केट, काले ब्राह्मण से मिलना एवं ब्राह्मण कन्या को देखना। अधिवक्ता कौशिक ने कहा कि इससे लोगों के दिलो-दिमाग में ब्राह्मण समाज के प्रति नकारात्मक सोच आई है। ब्राह्मण समाज के लोगों का काम करना दुस्वार हो गया है। लोगों में समाज के प्रति गलत धारणा पैदा हो रही है। इसके चलते सामाजिक एवं आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है। अधिवक्ताओं को भी काफी जिल्लत का सामना करना पड़ रहा है। इसके चलते सामाजिक वैमनस्य फैल रहा है। लोगों को जातीय आधार पर ब्राह्मण समाज पर तंज कसने का अवसर मिल रहा है। ब्राह्मण कन्या को देखने से शकुन मानने की भ्रांति से ब्राह्मण समाज की बेटियों की सुरक्षा भी एक ¨चता का विषय हो गई है। यह संविधान के अनुच्छेद 14 का सीधा उल्लंघन है। उन्होंने इसके लिए आरोपी एचएसएससी के चेयरमैन भारतभूषण भारती, सभी सदस्यों एवं प्रश्न संकलनकर्ताओं पर भारतीय दंड संहिता धाराएं 153ए, 499, 500 व अन्य धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की मांग की है।

By Jagran