फोटो : 12

-निगम के अधिकारियों ने मांगा पुलिस से सहयोग

जागरण संवाददाता, हिसार : राजगुरु मार्केट में बरामदों में अतिक्रमण का मुद्दा तुल पकड़ चुका है। जनता के लिए बने बरामदों में व्यापारी सामान रखना चाहते है जबकि शहरवासी बरामदें जनता के लिए खाली करवाना चाहते है। ऐसे में अब मार्केट में विवाद बढ़ता नजर आ रहा है। त्योहारी सीजन में मंगलवार को जहां व्यापारी व नगर निगम टीम के बीच बहस हुई थी। वहीं बुधवार को बरामदों को खाली करवाने की मांग कर रहे शिकायतकर्ता और व्यापारियों के बीच तीखी नौक-झौक हुई है। मामला इस कदर बढ़ा कि मार्केट में काफी व्यापारी व आमजन एकजुट हो गए। करीब आधा घंटों तक व्यापारी और संस्था अध्यक्ष अनिल महला के बीच विवाद होता रहा। उधर राजगुरु मार्केट में अतिक्रमण हटाने पहुंची तहबाजारी टीम मार्केट का चक्कर लगा। निगम गाड़ियों का तेल खर्च कर बिना चालान किए या सख्त कार्रवाई किए वापिस लौट गई। अब नगर निगम प्रशासन बाजार से अतिक्रमण हटाने के लिए पुलिस बल की मांग कर रहा है। यानि जल्द ही मार्केट में अतिक्रमण को लेकर बढ़ी कारवाई होने की संभावना है।

-----------------------

अनिल महला और व्यापारियों ने एक दूसरे पर ये लगाए आरोप प्रत्यारोप

अनिल महला : जनता के लिए बरामदें है यह मुझे आरटीआइ के जवाब में बताया है। मैं जनता के लिए बरामदें की मांग कर रहा हूं। सालों से इन बरामदों पर व्यापारियों के कब्जे है। उन्होंने अपने लाभ के लिए फड़ वाले भी दुकान के आगे बैठा रखा है। नगर निगम कमिश्नर और ज्वाइंट कमिश्नर जनता को ये बता दे सालों से आमजन के लिए बने बरामदों से कब्जे क्यों नहीं हट रहे। फड़ व अन्य माध्यम से हो रहे अतिक्रमण की राशि किसकी जेब में जा रही है। निगम को अतिक्रमण होने से कितना लाभ हो रहा है यह बता दे। जनता को सहीं जवाब मिलने पर मैं बरामदें खाली करवाने की मांग छोड़ दूंगा।

------------

व्यापारी नेता बाबूलाल अग्रवाल : हर काम सौ फीसद नियम में कहा होता है कोई बता दें। त्योहारी सीजन है व्यापारी ने कुछ सामान रख लिया तो इसमें इस प्रकार विवाद करना कहा तक उचित है। मैं प्रशासन से मांग करता हूं कि आरटीआइ और सीएम विडो की आड़ में कोई दूसरा खेल तो नहीं चल रहा इसकी गहन जांच करें।

----------------

वर्जन

किसी बाहरी व्यक्ति का मार्केट में इस प्रकार विवाद करना गलत है। त्योहारी सीजन में बरामदों के लिए व्यापारियों की बरामदों को लेकर क्या मांग होगी इस संबंध में अंतिम फैसला मार्केट के पांच व्यापारियों की गठित टीम का जवाब आने के बाद फैसला लिया जाएगा। मौजूदा समय की स्थिति देखने से लगता है मार्केट में राजनीति शुरु हो गई है।

- सुभाष टीनू आहुजा, राजगुरु मार्केट वेलफेयर हिसार।

-----------

वर्जन

हम बाजारों से अतिक्रमण हटा रहे है। बुधवार को भी टीम अतिक्रमण हटवाने मार्केट गई थी। राजगुरु मार्केट से अतिक्रमण हटाने के लिए पुलिस की मांग की जा रही है। पुलिस बल मिलते ही अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई तेज की जाएगी।

- सुरेंद्र शर्मा, इंचार्ज, तहबाजारी टीम, नगर निगम हिसार।

Edited By: Jagran