जागरण संवाददाता, हिसार : जिला परिषद के सीईओ प्रीतपाल ने जल शक्ति अभियान से जुड़े संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्धारित लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए हैं। वे सोमवार को लघु सचिवालय परिसर स्थित वीडियो कांफ्रेंस सभागार में जल शक्ति अभियान के तहत आयोजित की गई अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अभियान के तहत सभी विभागों के अधिकारी ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में लोगों को जागरूक करने के लिए कारगर कदम उठाएं। कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अधिकारियों को मेरा पानी-मेरी विरासत, सूक्ष्म सिचाई प्रणाली के प्रचार एवं प्रसार के साथ-साथ दलहनी एवं तिलहनी फसलों को बढ़ावा देने के लिए जागरूकता शिविर आयोजित करने के निर्देश दिए हैं। जल संरक्षण के प्रति विद्यार्थियों को जागरूक करने के लिए स्लोगन, पेंटिग एवं निबंध लेखन की प्रतियोगिताएं भी आयोजित करवाई जाएंगी।

जिला परिषद के सीईओ ने जल संरक्षण एवं वर्षा जल संचयन, पारंपरिक और अन्य जल निकायों के टैंकों का नवीनीकरण, वाटरशेड विकास, व्यर्थ पानी का उपचार करने के साथ-साथ प्रभात फेरियां, रैली, स्लोगन एवं वाल पेंटिग, जल चौपाल एवं ग्राम सभाओं का आयोजन करने की हिदायत दी।

इस अवसर पर जिला नगर योजनाकार जेपी खासा, खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी आदमपुर कीर्ति सिरोहीवाल, पंचायती राज विभाग के कार्यकारी अभियंता पेशल शर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी कुलदीप सिहाग, कृषि एवं किसान कल्याण विभाग से प्रवीन मंडल, सिचाई विभाग से एसडीओ अंकुश गोयल, विकास एवं पंचायत विभाग से जसवीर हुड्डा, सहायक भूमि संरक्षण अधिकारी मुकेश शर्मा, कृषि विज्ञान केंद्र से अजीत सांगवान सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Edited By: Jagran