-हरियाणा प्राइवेट स्कूल संघ ने सीएम को पत्र लिखकर शिक्षण संस्थान खोलने की रखी मांग

जागरण संवाददाता, हिसार : प्राइवेट स्कूल संघ ने स्कूल, कालेज एवं शिक्षण संस्थान खोलने की मांग की है। उनका कहना है कि यहीं हाल रहा तो बच्चे अपना भविष्य नहीं बना पाएंगे। इसे लेकर संघ ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर शिक्षण संस्थान खोलने की मांग की है।

प्राइवेट स्कूल संघ के प्रदेशाध्यक्ष सत्यवान कुंडू और महासचिव पवन राणा व अशोक कुमार, प्रांतीय उपप्रधान संजय धत्तरवाल व रणधीर पूनिया, संरक्षक तेलुराम एवं कानूनी सलाहकार गौरव भुटानी का कहना है कि कोरोना काल में पिछले लंबे समय तक बच्चों के घरों पर रहने से उनके शिक्षा के स्तर में काफी गिरावट आई थी। अब उनमें कुछ सुधार हो रहा था तो सरकार ने दोबारा से स्कूल बंद कर दिए है। उन्होंने कहा कि अब 15 से 18 वर्ष के बच्च्चों का वैक्सीनेशन भी हो रहा है। बच्चों की वार्षिक परीक्षाएं भी नजदीक है। इसलिए स्कूलों व कालेजों को खोला जाए, ताकि बच्चों की पढ़ाई प्रभावित न हो।

--------------

आनलाइन में नहीं ले रहे रूचि

प्रदेशाध्यक्ष सत्यवान कुंडू ने कहा कि बच्चे आनलाइन पढ़ाई में रूचि नहीं ले रहे। पढ़ाई आनलाइन माध्यम के मुकाबले आफलाइन से कक्षा में ही सही होती है। स्कूल, कालेजों में कोरोना नियमों के अनुसार दो गज दूरी, सेनिटाइजर व मास्क सहित अन्य सभी सावधानियां रखी जा सकती है। बच्चों का स्कूलों में आने से पाबंद लगाने पर बचाया नहीं जा सकता।

----------------

दो साल से हो गई आदत

दो साल से छोटे-बड़े को कोरोना नियम का पालन कर रहे है। अब उनको भी आदत हो गई है। स्कूल, कालेजों में मास्क लगाकर पढ़ सकते है, जबकि स्कूल से बाहर संक्रमण का खतरा अधिक है। बच्चे छुट्टियों में घर पर नहीं रहते। बाजार, माल, खेल मैदान में जरूर जाते है। इसलिए बच्चों की पढ़ाई को देखते हुए 26 जनवरी के बाद शिक्षण संस्थान खोले जाएं।

Edited By: Jagran