जेएनएन, हिसार : महाबीर स्टेडियम राज्यस्तरीय नंबरदार सम्मलेन में सीएम पहुंच चुके हैं। सीएम की सुरक्षा को लेकर प्रशासन ने आज पुख्ता इंतजाम किए और इसके लिए रूट भी डावयर्ट कर दिया। सम्मेलन में भाग लेने वाले किसी भी व्यक्ति को बिना जांच के अंदर नहीं जाने दिया गया और साथ ही पैन तक भी साथ ले जाने की अनुमति नहीं दी गई। सम्मेलन स्थल पर 10 एलईडी स्क्रीन लगाई गई हैं। इसके अलावा यहां लगाई गई प्रदर्शनी के माध्यम से सम्मेलन को भव्य स्वरूप प्रदान किया गया है। राजस्व विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ा ने बताया कि नंबरदारों के लिए महाबीर स्टेडियम में लोक संस्कृति के कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए हैं। एसीएस केशनी आनंद अरोड़ा ने कहा कि सम्मेलन में विभिन्न जिलों से आने वाले नंबरदारों के बैठने के लिए 20 सेक्टर बनाए गए हैं। अलग-अलग जिलों से लगभग 17 हजार नंबरदारों को सम्मेलन में लाने व ले जाने के लिए 353 बसें लगाई गई हैं। सम्मेलन में आने वाले नंबरदारों के लिए पैक्ड भोजन तैयार करवाया जाएगा जो उन्हें उनकी बसों में ही उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होंने बताया कि सम्मेलन में डॉक्युमेंट्री फिल्म के माध्यम से नंबरदारों को सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं से रूबरू करवाया जाएगा। मुख्य स्टेज के पीछे दो बड़ी एलईडी स्क्रीन लगाई गई हैं जो कार्यक्रम को भव्य रूप प्रदान करेंगी। इनके अलावा सम्मेलन में अलग-अलग स्थानों पर 8 एलईडी स्क्रीन भी लगाई गई हैं। प्रत्येक सेक्टर में बैठे नंबरदार अपनी निकट की स्क्रीन पर कार्यक्रम देख सकेंगे व मुख्यमंत्री सहित अन्य वक्ताओं के संबोधन सुन सकेंगे। उन्होंने सम्मेलन से जुड़ी हर प्रकार की व्यवस्था और प्रबंधों की गहन समीक्षा की। 

वाहनों के लिए बनाईं तीन पार्किंग
उपायुक्त अशोक कुमार मीणा ने सभी सेक्टर्स के लिए नियुक्त किए गए सेक्टर ऑफिसर्स को निर्देश दिए कि वे अपनी जिम्मेदारी को मुस्तैदी से निभाएं। उन्होंने कहा कि वाहनों को खड़ा करने के लिए 3 पार्किंग बनाई गई हैं। ट्रैफिक व्यवस्था को सुचारू बनाए रखने के लिए विशेष प्रबंध किए गए हैं। कार्यक्रम से पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल, वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु व अन्य अतिथि महाबीर स्टेडियम में लगाई गई प्रदर्शनी का भी अवलोकन करेंगे जिनके माध्यम से सरकार के सभी विभागों की प्रमुख जानकारियां दर्शाई गई हैं। 

इस तरह से रूट किया गया डायवर्ट 
राज्यस्तरीय नंबरदार सम्मलेन को लेकर प्रशासन ने अपने रूट प्लान को रविवार की सुबह ही लागू कर दिया। इसमें बालसमंद रोड की ओर से आने वाले वाहनों को लोहा मंडी की ओर रेलवे फाटक से क्रॉस करवा सीधा निकाला गया। वहीं स्टेडियम की ओर आने वाले वाहनों को लक्ष्मीबाई चौक  से आई जी चौक नहीं जाने दिया गया और इन वाहन चालकों को आईजी चौक की ओर जाने के लिए रेलवे पुल को क्रॉस कर वापस राजगढ़ रोड पर आना पड़ा। इसी तरह नागोरी गेट की ओर से आने वाले वाहनों को मलिक चौक पारिजात चौक से फाटक की ओर निकाला गया और कुछ को लक्ष्मी बाई चौक से होकर बालसमंद रोड की ओर रास्ता न मिलने के चलते कचहरी के पास से साउथ बाईपास होकर बालसमंद रोड पर जाना पड़ा। इससे आम आदमी को बेहद परेशानी का सामना करना पड़ा।