फतेहाबाद/हिसार, जेएनएन। फतेहाबाद के गांव ढिंगसरा के दो युवकों ने रेलवे ग्रुप डी में नौकरी लगवाने के नाम पर साढ़े पांच लाख रुपये की धोखाधड़ी व गबन करने का आरोप लगाया है। आरोप है कि रोहतक के गांव पिलाना निवासी नीलम रानी, उसके पति जितेंद्र ने खुद को ब्लॉक समिति चेयरमैन बताकर साढ़े पांच लाख रुपये की ठगी कर ली। इस मामले में भट्टूकलां हैफेड में स्टोर कीपर के पद पर तैनात हिसार के नारनौंद निवासी कुलदीप भी शामिल है।

भट्टूकलां पुलिस ने मामले में गांव ढिंगसरा निवासी सुनील की शिकायत पर आरोपित कुलदीप, नीलम रानी और जितेंद्र के खिलाफ साजिश के तहत धोखाधड़ी, गबन करने के आरोप में मामला दर्ज किया है।

पुलिस को दी शिकायत में सुनील ने बताया कि भट्टूकलां में हैफेड में स्टोर कीपर के पद पर तैनात कुलदीप के साथ जान-पहचान है। कुलदीप ने बताया कि उसकी साली नीलम रानी ब्लॉक समिति में चेयरमैन है और उनकी सरकार में अच्छी जान-पहचान है। काफी लोगों को सरकारी नौकरी भी लगवाई है।

कुलदीप की बातों में आकर उसने व उसके दोस्त भरत ङ्क्षसह ने 14 दिसंबर 2018 को नीलम रानी के बैंक खाता में तीन लाख रुपये ट्रांसफर कर दिए। इसके बाद ढाई लाख रुपये फिर नीलम रानी के खाते में 15 दिसंबर 2018 को ट्रांसफर कर दिए। आरोप है कि नीलम और उसके पति जितेंद्र ने कहा कि उनकी सरकार में पहुंच और रेलवे ग्रुप डी में नौकरी लग जाएगी। आरोप है कि जब रिजल्ट आया तो किसी की नौकरी नहीं लगी। जब रुपये वापस मांगे तो आरोपितों ने देने से इन्कार कर दिया।

 

--हम चेयरमैन नहीं है, हम जमींदार हैं। जो आरोप लगाए जा रहे हैं, उसमें हमारा कोई लेना-देना नहीं है।

- जितेंद्र कुमार, आरोपित

 

---घटना की शिकायत मिली है। इस मामले में पंचायत हो चुकी है लेकिन कोई फैसला नहीं हुआ। आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। जांच जारी है।

- एसआइ कृष्ण कुमार, जांच अधिकारी

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस