बहादुरगढ़, जेएनएन। कई दफा जरा सी चोट या एक्‍सीडेंट पर इंसान की जान चली जाती है। मगर कई बार बड़े हादसे में भी जान बच जाती है। मगरशायद ही कभी ऐसा हो की भयंकर एक्‍सीडेंट के बावजूद किसी को खरोंच तक भी न आए। मगर बहादुरगढ़ में एक ऐसा ही मामला सामने आया है। और जाको राखे साईंया मार सकै न कोय की कवाहत सार्थक साबित हो गई है।

नेशनल हाइवे-9 के बहादुरगढ़ बाइपास पर शनिवार की सुबह हैरतअंगेज हादसा हुआ। ओवरटेक करते समय आई-20 कार से टकराकर एक स्कार्पियो पहले तो 50 फीट दूर तक हवा में उछली। फिर कई पलटी खाकर सीवर मेनहोल की दीवार से टकरा गई। मगर राहत की बात यह रही कि उसमें सवार चालक को खरोंच भी न आई। कार में सवार बाकी लोग भी बाल-बाल बच गए। एक महिला के पैर में फ्रेक्चर है। जिसने भी यह हादसा देखा वह एक बार तो दहल गया, मगर सभी लोगों को सुरक्षित पाकर चैन मिला। पुलिस ने घटना पर पहुंचकर छानबीन शुरू की।

रोहतक की तरफ से एक स्कार्पियो गाड़ी आ रही थी। जैसे ही सेक्टर-9 के नजदीक पहुंची तो आगे एक आइ-20 कार चल रही थी। अचानक से दोनों का अगला हिस्सा टकराया और कार को खींचती हुई स्कार्पियो नाले की दीवार से टकराने के बाद 50 फीट हवा में लहराकर पार्क में जा गिरी। कई पलटी खाने के बाद सीवर मेनहोल की दकराकर रुकी। दो पेड़ भी टूटे। आसपास मौजूद लोगों ने भागकर उसमें सचार चालक को संभाला तो वह पूरी तरह सुरक्षित मिला। चालक की पहचान दिल्ली के बुराड़ी के रहने वाले एमबीए के छात्र सुजीत के तौर पर हुई। हादसे में खुद को सुरक्षित पाकर वह भी दंग थी।

दूसरी स्कार्पियो से टकराने के बाद आइ-20 कार भी कवर्ड नाले को पार करके सड़क से नीचे उतर गई। मगर उसमें सवार दो महिलाओं समेत सभी लोग भी बाल-बाल बच गए। घटना के प्रत्यक्षदर्शी रहे राहुल ने बताया कि वह सैर के लिए निकला था। जिस तरह का हादसा हुआ, वह अपने आप में रोंगटे खड़े करने वाला था। सभी बच गए, यह गनीमत की बात रही। जब तक स्कार्पियो चालक का संभाला तब तक कार सवार लोग घायल महिला को लेकर चले गए। उधर, घटना की सूचना पाकर सेक्टर-9 चौकी पुलिस मौके पर पहुंची। जांच अधिकारी राजीव कुमार ने बताया कि स्कार्पियो गाड़ी का टायर फटने के बाद ऐसा हुआ। जांच की जा रही है। एक महिला के अलावा किसी और को चोट नहीं लगी है।

Posted By: Manoj Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप