हिसार, जेएनएन। भविष्य में रोडवेज बसों को भी टेक्नोलॉजी से जोड़कर स्मार्ट बनाया जा सकता है। सरकार को मोबाइल एप से पता चल जाएगा कि उनकी बसों में दिन में कितने लोग चढ़े और कितने उतरे। इससे रोडवेज को मिलने वाले रेवेन्यू का पूरा ब्योरा रखा जा सकेगा। यही नहीं, एप के माध्यम से बस स्टॉप पर खड़ी सवारियों और रोडवेज कर्मियों को ये भी पता रहेगा कि उनकी कौन सी बस में कितनी भीड़ है और बस कहां पर है।

सरकार को पता रहेगा उनकी बसों में कितने यात्री चढ़े-उतरे और कितना आया रेवेन्यू

 गुरु जंभेश्वर विश्वविद्यालय के इलेक्ट्रोनिक्स एंड कम्यूनिकेशन विभाग के विद्यार्थियों ने यह स्मार्ट बस ट्रांसपोर्ट सिस्टम ईजाद किया है। आर्डिनो माइक्रो कंट्रेालर, लेजर सेंसर, बैटरी और वाई-फाई के माध्यम से बनाए इस सिस्टम को विद्यार्थियों ने पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर विश्वविद्यालय की बस पर लगाया है।

एप से जोडऩे के बाद बस स्टॉप पर खड़े लोग भी जान सकेंगे आने वाली बस में कितनी भीड़

खास बात यह है कि मोबाइल को छोड़ दें तो इस पूरे प्रोजेक्ट की कीमत केवल एक हजार रुपये है। इस सिस्टम को मनीष कौर, राकेश और अमित जैन बनाया और प्रोजेक्ट गाइड असिस्टेंट प्रोफेसर डा. विजयपाल सिंह ने उनका दिशा-निर्देशन किया। प्रोजेक्ट की सफलता पर कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार और विभाग के विभागाध्यक्ष डा. दीपक केडिया ने विद्यार्थियों और उनके प्रोजेक्ट गाइड को बधाई दी।

प्रोजेक्ट में इन उपकरणों का हुआ प्रयोग -

- लेजर सेंसर।

- आर्डिनो माइक्रो कंट्रोलर।

- ब्लुटूथ मॉडयूल।

- मोबाइल एप।

- स्मार्ट मोबाइल इन बस।

--------------------

'' आज देश को युवाओं के इनोवेटिव आइडिया की जरूरत है। हमारे विश्वविद्यालय के विद्यार्थी और टीचर्स इस दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। इसी प्रयास के तहत विद्यार्थियों ने यह प्रोजेक्ट बनाया, जो भविष्य के ट्रांसपोर्ट को एडवांस बना सकता है। ट्रांसपोर्ट सिस्टम किसी भी राज्य की लाइफ लाइन की तरह है। इसमें जितना सुधार होगा, आम जनता और सरकार को उतना ही फायदा होगा। मैं स्मार्ट बस ट्रांसपोर्ट सिस्टम बनाने वाले विद्यार्थियों और उनके टीचर्स को बधाई देता हूं।

                                                                                              - प्रो. टंकेश्वर कुमार, कुलपति, गुजवि।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप