जागरण संवाददाता, रोहतक : दुल्हन तनिष्का गोलीकांड का मामला एक बार फिर सुर्खियों में है। इस मामले में पुलिस सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज चुकी है। ऐसे में अब तनिष्का के पिता ओमप्रकाश ने एसपी उदय सिंह मीना से मिलकर जान का खतरा बताते हुए पुलिस सुरक्षा की मांग की है। इसके अलावा पूरे मामले की जांच किसी वरिष्ठ पुलिस अधिकारी से भी कराए जाने की मांग की है। तनिष्का के पिता ने बताया कि घटना को करीब 40 दिन हो चुके हैं, लेकिन अभी तक भी इस मामले की जांच पूरी नहीं हो सकी। मामले की जांच जल्दी से जल्दी पूरी होनी चाहिए। यदि किसी अन्य आरोपित की इसमें कोई संलिप्ता है तो उसे भी गिरफ्तार किया जाए।

ससुराल की दहलीज पर मार दी थी तनिष्का को गोली

सांपला की रहने वाली तनिष्का की शादी 1 दिसंबर को शादी भाली आनंदपुर गांव में हुई थी। देर रात विदाई के बाद तनिष्का अपने पति, भाई और अन्य रिश्तेदारों के साथ गाड़ी में अपनी ससुराल जा रही थी। भाली आनंदपुर गांव के बाहर पहुंचते ही इनोवा कार सवार आरोपितों ने दुल्हन की गाड़ी को रूकवा लिया था। इसके बाद आरोपितों ने सभी को गाड़ी से बाहर निकालकर तनिष्का को कई गोली मार दी थी। इसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गई थी। काफी दिन तक तनिष्का का उपचार पीजीआइएमएस में चला, जिसके बाद स्वजन उसे गुरुग्राम के निजी अस्पताल में लेकर चले गए थे।

शरीर में फंसी है अभी भी चार गोली

तनिष्का के पिता ने बताया कि कुछ दिन पहले उसकी बेटी को अस्पताल से घर भेज दिया गया, लेकिन अभी भी उसके शरीर में करीब चार गोली फंसी हुई है। उसकी हालत में सुधार होने के बाद बड़ी सर्जरी की जाएगी, जिसके बाद उन गोलियों को निकाला जाएगा। घर आने के बाद परिवार के लोग भी तनिष्का का हौसला बढ़ा रहे हैं। तनिष्का का कहना है कि वह अपनी पढ़ाई पूरी कर पुलिस में भर्ती होना चाहती है, जिससे इस तरह बेटियों पर अत्याचार करने वालों को सबक सिखा सके।

Edited By: Manoj Kumar