हिसार/हांसी, जेएनएन। कोरोना न फैले इसके लिए सरकार लोगों से फिजिकल डिस्‍टेंस बनाए रखने की अपील कर रही है। मगर बीजेपी के विधायक ही इस नियम को बार बार चकनाचूर करने में जुटे हुए हैं। हांसी के विधायक विनोद भयाना पहले एक गौशाला के कार्यक्रम में भीड़ के साथ नजर आए तो अब हांसी में बनाए गए कंटेनमेंट जोन में भी भीड़ के साथ जा पहुंचे।

हांसी में दिल्‍ली से लौटे टैक्‍सी ड्राइवर के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद जिस कंटेनमेंट जोन में किसी को आने जाने की इजाजत नहीं वहां विधायक खुलेआम घूम रहे हैं। हालांकि इस जगह पर जाने की वजह उन्‍होंने लोगों के सामने आने वाले समस्‍याओं को सुनना बताया मगर जिस तरह से वहां भीड़ जुटी वह अपने आप में चिंताजनक स्थिति बन गई।

इससे पहले भी विधायक पर दो बार लॉकडाउन के नियमों की उल्‍लंघना करने का आरोप लग चुका है। देश को बचाने के लिए लागू किये गए लॉकडाउन के नियमों को बारंबार तोड़े तो जनता में क्या संदेश जाएगा, इसका अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है।

हांसी के विधायक विनोद भयाना ने एक महीने के अंदर दूसरी बार लॉकडाउन के नियमों को सरेआम तोड़ दिया। आज की घटना तीसरा मामला है। इससे पहले पुरानी मार्केट कमेटी के ग्राउंड में क्लीन हांसी-ग्रीन हांसी अभियान के तहत गोशाला के उद्घाटन समारोह में विधायक की अगुवाई में प्रदेशभर से आए अनेक लोग जुटे। यहां राजनीतिक, प्रशासनिक व सामाजिक संगठनों के तीनों ही वर्गों के प्रतिनिधियों ने नियमों की सरेआम धज्जियां उड़ाते हुए हवन यज्ञ में आहुति डाली।

विधायक की मौजूदगी में प्रशासनिक व पुलिस के आला अधिकारी शायद ये भूल गए कि जिले में धारा 144 के साथ-साथ लॉकडाउन के कड़े नियम लागू हैं जिसकी पालना सुनिश्चित करना व करवाना उनका दायित्व है। देशभक्त होने का दावा करने वाले गोभक्त भी कानून की पालना करने का बोध नहीं कर पाए और कई घंटों तक लोगों का मजमा ग्राउंड में लगा रहा।

नेता, पुलिस व प्रशासन सबने मिलकर तोड़े नियम

गोशाला उद्घाटन के दौरान हुए कार्यक्रम में एसडीएम के अलावा, डीएसपी रोहताश सिंह, आचार्य योगीराज, भाजपा मंडल प्रभारी धर्मबीर रतेरिया,सचिव राहुल कुंडू, नप चेयरपर्सन प्रतिनिधि विनोद सैनी, सुरेश बंसल, व्यापारी नेता बजरंग बंसल, मोहन लाल बंसल, सतपाल खांडेवाला सहित शहर के जाने-माने कई लोग मौजूद थे। विपक्ष को नियमों का पाठ पढ़ाने वाले भाजपा के नेता यहां खुद नियमों को भूल बैठे और बिना कोई शारीरिक दूरी एक-दूसरे से सटकर बैठे रहे। हैरत की बात यह है कि ऐसी स्थिति में भी कार्यक्रम में मौजूद कई लोगों के मुंह पर मास्क तक नहीं थे व कईयों के मास्क मुंह से भी नीचे तक लटके हुए मिले।

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस