संवाद सहयोगी, नारनौंद : प्रदेश में घोटालों की सरकार है। नौ महीने में नौ बड़े घोटाले हो चुके हैं, लेकिन सरकार इनकी सही तरीके से जांच कराने की बजाय खानापूर्ति में लगी है। वहीं भाजपा और जजपा स्वतंत्रता सेनानियों की अनदेखी भी कर रही है। यह आरोप इनेलो के प्रदेश प्रवक्ता रणबीर लोहान ने पत्रकार वार्ता के दौरान लगाए।

उन्होंने कहा कि अंग्रेजों से आजादी के बाद अब प्रदेश की जनता भाजपा व जजपा की सरकार से आजादी चाहती है। प्रदेश के मुख्यमंत्री ईमानदार होने का ढिढोरा पीट रहे हैं, जबकि उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के विभागों में भारी लूट हुई है। सरकार द्वारा कराई जा रही घोटालों की जांच से ही पता चलता है कि यह कितनी निष्पक्षता से की गई है। सरकार इन घोटालों में शामिल बड़े लोगों को बचाने का काम कर रही है। अगर निष्पक्ष तरीके से इनकी जांच कराई जाए तो बड़े-बड़े नेता और अधिकारी सलाखों के पीछे होंगे। मुख्यमंत्री सरकार को बचाने के लिए चुप बैठे हैं।

उन्होंने कहा कि जजपा के सभी विधायक डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला से नाराज हैं। नारनौंद के विधायक रामकुमार गौतम तो खुलेआम दुष्यंत चौटाला के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं। दुष्यंत चौटाला ने सत्ता के लालच में अपने दादा ओम प्रकाश चौटाला का भी अपमान किया है। इस अवसर पर आशीष,अमित, मनोज सिधड़, सूर्य लोहान, सोनू लोहान इत्यादि पर मौजूद थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021