भिवानी, जागरण संवाददाता। भिवानी के रेलवे स्टेशन के नजदीक आफिस से दुर्गा कालोनी निवासी और जिम ट्रेनर रवि का अपहरण कर हत्या करने के मामले में चार आरोपितों को पकड़ा है। जांच में सामने आया कि मुख्य आरोपित डाबर कालोनी निवासी हरिकिशन उर्फ हरिया के साथ रवि का 2015 में झगड़ा हुआ था। आरोप है कि उस समय रवि ने हरिया की टांग तोड़ दी थी। उस पर थूका भी था। उस बात का बदला लेने के लिए ही आरोपितों ने शराब के नशे में उस पर हमला कर हत्या की। पुलिस ने अब हरिया के अलावा बृजवासी कालोनी निवासी नवीन उर्फ ढीलू, शास्त्री नगर निवासी वरूण उर्फ सोनू और कमल उर्फ डीसी को गिरफ्तार कर चार दिन के रिमांड पर लिया है। आरोपितों से रिमांड के दौरान वारदात में प्रयोग गाड़ी और हथियार बरामद किए जाने है।

हरिया और नवीन पर पहले भी है मामले दर्ज

पुलिस के अनुसार 2015 में रवि और हरिया दोस्त थे। वह साथ ही जिम जाते थे। उनका किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था। आरोप है कि रवि ने हरिया की दोनों टांगे एक तरह से तोड़ दी थी। वह काफी माह में ठीक हुआ था। उस दौरान से वह मन में रंजिश रख रहा था। पुलिस जांच में सामने आया कि घटना वाले दिन हरिया अपने दोस्त के साथ गाड़ी में शराब पी रहा था। जब वह घर जाने लगे तो रवि दिखा और उन्होंने उस पर हमला कर दिया। कार्यालय में तोड़फोड़ की और उसको पीटते रहे। लोगों के एकत्रित होने पर वह उसको गाड़ी में उठाकर लोहानी की तरफ ले गए। बीच में गाड़ी रोकर उसको फिर से पीटा था। बाद में लोहानी अस्पताल के पास पुलिस नाका होने के कारण वह उसे गांव के पास फेंक कर फरार हो गए थे। पुलिस ने अब चारों को पकड़ा है। सीआइए-1 के इंचार्ज निरीक्षक योगेश कुमार ने बताया कि अभी आराेपितों से पूछताछ की जा रही है।

हरिया और नवीन पर पहले मामले दर्ज

पुलिस जांच में सामने आया कि हत्यारोपित हरिकिशन उर्फ हरिया और नवीन पर पहले भी मामले दर्ज है। हरिया पर 2014 में झगड़े, 2016 में हत्या और 2020 में झगड़ा का मामला दर्ज है। 2014 और 2016 के मामले में वह बरी भी हो चुका है। इसी प्रकार नवीन पर झगड़े, हत्या प्रयास के तीन मामले दर्ज है।

आरोप डीसी खेलता था शाटपुट खेल

जांच में सामने आया कि आरोपित कमल उर्फ डीसी शाटपुट खेल खेलता था। वह जिला पर भी नहीं पहुंचा था। लेकिन वह खेल खेलने के लिए जाता था। इसी प्रकार चारों आरोपित जिम में जाते थे। अभी वह भी नियमित रूप से जिम जा रहे थे।

गुुरुग्राम तक भाग गए थे आरोपित

पुलिस जांच में सामने आया कि आरोपित रवि को लोहानी के पास फेंकने के बाद गाड़ी लेकर बाढ़ड़ा हाेते हुए गुरुग्राम निकल गए थे। लेकिन पुलिस की चेकिंग को देखकर वह वापस आ गए और बाद में बाढ़ड़ा व तोशाम क्षेत्र में छिप गए। पुलिस ने इनको छापामार करवाई करते हुए पकड़ लिया। बताया जाता है कि आरोपित अपने परिवार से वाट्सएप के जरिए संपर्क में भी थे।

सीआइए-1 ने रवि के हत्यारोपितों को किया गिरफ्तार

रवि की हत्या करने के मामले में चार आरोपितों को गिरफ्तार कर चार दिन के रिमांड पर लिया है। आरोपितों से पूछताछ की जा रही है। उनसे अभी वारदात में प्रयोग गाड़ी और हथियार बरामद करने है।

--- वीरेंद्र सिंह, डीएसपी, भिवानी।

Edited By: Naveen Dalal