फोटो : 35

-नवोदय विद्यालय में परीक्षा के लिए अंतिम तिथि 30 नवंबर

सुनील मान, नारनौंद

एक समय था जब निजी स्कूलों के अध्यापक गांव-गांव जाकर लोगों को निजी स्कूलों में पढ़ने के लिए आकर्षित करते थे। लेकिन अब सरकारी स्कूलों के भी अध्यापक घर-घर तक दस्तक देकर स्कूलों में छात्रों की संख्या को बढ़ा रहे हैं। ऐसा ही जवाहर नवोदय विद्यालय पाबड़ा के अध्यापक कर रहे हैं। वो खुद ही सरकारी स्कूलों में जाकर छात्रों को जागरूक करके जवाहर नवोदय विद्यालय की परीक्षा में बैठने के लिए न्योता दे रहे हैं और कस्बे के अलग-अलग चौराहों पर खुद अपने हाथों से बैनर लगाकर अनूठी मिसाल कायम करने में जुटे हुए हैं।

जवाहर नवोदय विद्यालय पाबड़ा में अगले सत्र के लिए परीक्षा का आयोजन 30 अप्रैल 2022 को किया जाएगा। इसके लिए आवेदन की अंतिम तिथि 30 नवंबर हैं। विद्यालय द्वारा आयोजित परीक्षा में कोई भी छात्र वंचित न रहे इसके लिए विद्यालय के अध्यापकों ने अभी से ही जागरूकता अभियान शुरू कर दिया है। वीरवार को विद्यालय के अध्यापक अशोक चुघ व नीतू कुमारी कस्बे के खंड शिक्षा कार्यालय में पहुंचे और उन्होंने अलग-अलग स्कूलों के मुख्य अध्यापकों को 12 सो फार्म दिए। ताकि प्रत्येक स्कूल से छात्र इस परीक्षा के लिए अपना फार्म भरकर समय पर ही जमा करवा सकें। इसके लिए अध्यापक स्कूलों में भी जाकर छात्रों को इस परीक्षा में बैठने के लिए जागरूक कर रहे हैं। वही प्रत्येक कस्बे में खुद अध्यापक अपने हाथों से बैनर लगाते हुए भी नजर आए ताकि छात्रों के अभिभावक भी बैनरों के माध्यम से जानकारी लेकर अपने बच्चों को इस परीक्षा में बैठने के लिए उनका आवेदन समय पर जमा करवा सकें। प्राइवेट स्कूलों के अध्यापकों को दो बैनर लगाते हुए काफी बार देखा गया था लेकिन जवाहर नवोदय विद्यालय के अध्यापकों को पहली बार अलग-अलग चौराहों पर बैनर लगाते हुए देखकर हर कोई हैरान था कि अब सरकारी स्कूलों के अध्यापक भी स्कूलों में संख्या बढ़ाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं।

जवाहर नवोदय विद्यालय के अध्यापक अशोक चुघ व नीतू कुमारी ने बताया कि परीक्षा में ज्यादा से ज्यादा छात्र भाग ले इसके लिए जागरूकता अभियान चलाया हुआ है इसके लिए स्कूल स्कूल में गली-गली जाकर प्रसार किया जा रहा है। जब निजी संस्थाएं प्रचार कर रही है तो हम पीछे क्यों रहें। इसके लिए ज्यादा से ज्यादा प्रचार किया जा रहा है ताकि छात्र नवोदय विद्यालय में प्रवेश लेकर अच्छी शिक्षा ग्रहण कर सकें।

खंड शिक्षा अधिकारी अमनदीप सिंह ने बताया कि सभी स्कूलों को अधिक से अधिक पंजीकरण के लिए स्कूल के हेड मास्टरों को सख्त आदेश दिए कि ज्यादा से ज्यादा संख्या में सरकारी स्कूल के छात्रों को जागरूक करके नवोदय विद्यालय की प्रवेश परीक्षा में शामिल करवाएं।

Edited By: Jagran