संवाद सहयोगी,नारनौंद : बास थाना के अंतर्गत आने वाले गांव मेहन्दा निवासी विक्रम ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि चार अगस्त को सांय करीब सवा 8 बजे में अपनी प्रचून की दुकान में बैठा हुआ था। तभी मंदीप पुत्र ईश्वर, मंदीप का बड़ा लड़का व सचिन पुत्र महेंद्र आए और बोले की तुमने सड़क पर हमारी गाड़ी के आगे गाड़ी क्यों अड़ाई। जो उसी दिन की बात है। जबकि इनके पास कोई भी गाड़ी नहीं थी। उन्होंनें दुकान के अन्दर घुस कर मुझे जाति सूचक गालियां देते हुए दुकान से बाहर निकलने की कहने लगे। डर के मारे मैं बाहर नहीं निकला तो मारपीट करते हुए दुकान में तोड़ फोड़ आरभ कर दी। तभी पड़ोस के उमेद, बिजेंद्र, दिलबाग व साहिल ने आकर मेरा बचाव किया। दुकान का जो सामान बाहर फैंका हुआ था। उसे अन्दर रखकर दुकान को बंद कर दिया। इसलिए उन्होंनें हमें चेतावनी दी कि दुकान खोलकर दिखा तुझको जान से मार देंगे। बास थाना पुलिस ने गांव मेहन्दा निवासी विक्रम की दी गई शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 323, 452, 506 व एससीएसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज करके कार्रवाई आरभ कर दी है।

100 लीटर लाहन कब्जे में रखने के आरोपी को किया गिरफ्तार

नारनौंद : पुलिस अधीक्षक हांसी नितिका गहलोत के दिशा निर्देशानुसार अवैध शराब के खिलाफ चलाए जा रहे विशेष अभियान के तहत नारनौंद थाना के अंतर्गत आने वाली खेड़ी चौपटा पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए आरोपित की पहचान सुरेश उर्फ गूंगा निवासी कापड़ों के रूप में हुई है। जिसने अपने खेत में गड्ढा खोदकर उसमें लाहन का ड्रम दबा कर रख रखा था। जो मौका पर पुलिस को देख कर भागने लगा तो पुलिस ने उसका पीछा करते हुए उसको पकड़ लिया।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट