संवाद सहयोगी, हांसी : क्रिकेटर युवराज सिंह की तरह ही अब बालीवुड अभिनेत्री युविका चौधरी को हांसी पुलिस की तफ्तीश में शामिल होना पड़ा है। युविका चौधरी मुंबई से हांसी पहुंची। युविका ने सोमवार हांसी पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया। पुलिस ने करीब चार घंटे तक युविका से पूछताछ करने के बाद 50 हजार रुपये का बांड भरवाकर जमानत पर रिहा कर दिया। हांसी पुलिस की ओर से डीएसपी विनोद शंकर ने पूछताछ की। पुलिस ने युविका के दो फोन को भी अपने कब्जे में ले लिया है। युविका चौधरी के साथ करीबन 10 बाउंसर, उसके पति प्रिंस नरूला और उसके अधिवक्ता भी मौजूद थे। युविका चौधरी के अधिवक्ता अशोक बिश्नोई ने बताया कि अब इस केस में 24 नवंबर को हाई कोर्ट में सुनवाई होगी।

बता दें कि युविका चौधरी ने इसी साल 25 मई को अपने ब्लाग पर एक वीडियो जारी कर अनुसूचित जाति समाज के लिए एक अपमानजनक टिप्पणी की थी। जिसके बाद दलित अधिकार कार्यकर्ता रजत कल्सन ने थाना शहर हांसी में उक्त अभिनेत्री के खिलाफ अनुसूचित जाति व जनजाति अत्याचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज कराया था।

पंजाब व हरियाणा हाई कोर्ट में अपने खिलाफ दर्ज मुकदमे को खारिज कराने के लिए याचिका दायर की थी परंतु हाई कोर्ट ने उसे कोई भी राहत देने से इंकार कर दिया था, जिसके बाद अभिनेत्री ने हिसार की अनुसूचित जाति व जनजाति अत्याचार अधिनियम के तहत स्थापित विशेष अदालत में अग्रिम जमानत की याचिका दायर की थी जिसे 11 अक्टूबर को विशेष अदालत ने खारिज कर दिया था। इसके बाद पंजाब हरियाणा हाई कोर्ट ने उक्त अभिनेत्री को राहत देते हुए उसे अंतरिम जमानत दे दी थी और जांच में शामिल होने के आदेश दिए थे।

युवराज सिंह और मुनमुन दत्ता के खिलाफ भी हैं केस दर्ज

शिकायतकर्ता रजत कलसन ने युवराज सिंह के खिलाफ भी एससी एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कराया था, जिसमें युवराज सिंह ने 16 अक्टूबर को पुलिस के सामने समर्पण किया था और उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर पूछताछ करने के बाद अंतरिम जमानत पर छोड़ दिया था। इसी तरह की अपमानजनक टिप्पणी करने के मामले में तारक मेहता का उल्टा चश्मा की अभिनेत्री मुनमुन दत्ता के खिलाफ हांसी थाना शहर में मुकदमा दर्ज है।

Edited By: Manoj Kumar