जेएनएन, रोहतक : तिलियार पर्यटन केंद्र से नाबालिग को अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म के मामले में अहम जानकारी सामने आई है। पुलिस पूछताछ में आरोपितों ने कबूल किया कि सामूहिक दुष्कर्म के बाद वह पीडि़ता की हत्या कर निर्भया कांड दोहराना चाहते थे, लेकिन उनका एक साथी इसके लिए तैयार नहीं था। वह लगातार कहता रहा कि अरे यार डरो मत, हमने तो कई लड़कियों के साथ ऐसा किया है। ये भी उनकी तरह किसी को कुछ नहीं बताएगी। इसलिए मारना जरूरी नहीं है। इसके बाद आरोपित उसे शीला बाईपास पर फेंककर फरार हो गए। पुलिस पकड़े गए चारों आरोपितों को रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है, जबकि पांचवां आरोपित अभी फरार है।

उधर, इस घटना के बाद से पीडि़त परिवार दहशत में है। परिवार के लोग अपनी जान का खतरा बता पश्चिम बंगाल लौटना चाहते हैं। हालांकि पुलिस की तरफ से उन्हें सुरक्षा का पूरा आश्वासन दिया गया है।

बता दें कि पश्चिम बंगाल के वर्धमान जिले की रहने वाली एक नाबालिग अपने परिजनों के साथ रोहतक की एक कॉलोनी में रहती है।

 वह शाम के समय अपने दोस्त के साथ घूमने के लिए तिलियार पर्यटन केंद्र गई थी। इस दौरान बाइक सवार दो आरोपित अगवा कर उसे बोहर गांव के जंगल में ले गए और वहां पर अपने साथियों सहित नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। इस मामले में पुलिस ने पीडि़ता के दोस्त अजय के अलावा विपिन उर्फ मोनू, प्रवेश उर्फ सोनू , नीरज उर्फ नीटू निवासी बोहर को गिरफ्तार किया है। पुलिस चारों आरोपितों को रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है।

घटना में प्रयुक्त बाइक बरामद

सामूहिक दुष्कर्म के बाद आरोपित पीडि़ता को घर नहीं जाने देना चाहते थे। इसलिए वे उसे लेकर अकेले रह रहे आरोपित साहिल के घर गए, लेकिन आसपास की महिलाओं के विरोध के बाद वहां नहीं रुके। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त बाइक भी बरामद कर ली है, जो आरोपित विपिन की है।

एक आरोपित अभी है फरार

डीएसपी व एसआइटी इंचार्ज ममता खरब ने कहा कि घटना में प्रयुक्त बाइक बरामद कर ली गई है। एक आरोपित अभी फरार है, जिसे पकडऩे के लिए दबिश दी जा रही है। आरोपितों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021