जागरण संवाददाता, हिसार: थाना सदर की पुलिस टीम ने जगदीश वासी लाडवा की हत्या के आरोप में रोहतक के निदाना निवासी शीलू को थाना सदर में 16 अगस्त को 2020 को दर्ज मुकदमे के तहत गिरफ्तार किया है। आरोपित ने साथियों सहित लाडवा निवासी जगदीश के स्वजनों पर हमला कर गंभीर चोटे मारी थी। जिस कारण जगदीश की इलाज के दौरान मौत हो गई थी।

गौरतलब है कि सदर थाना पुलिस ने लाडवा वासी सतबीर की शिकायत पर उसके भाई की पीटकर हत्या करने के आरोप में जताई वासी आत्माराम, अनिल, नवीन, कुलदीप सहित अन्य पर केस दर्ज किया था। सतबीर ने बताया था कि वे अलसुबह सैर पर निकले थे। तब दो गाड़ियों में सवार बदमाशों ने जगदीश को घेरकर उसे बुरी तरह पीट-पीटकर मार डाला था। मामले में उस दौरान गुस्साए मृतक के स्वजनों व ग्रामीणों ने सिविल अस्पताल में धरना दिया था। उन्होंने फैसला लिया कि जब तक पुलिस मामले में संलिप्त एक-एक आरोपित को गिरफ्तार नहीं कर लेती, तब तक शव भी नहीं उठाएंगे। इस दौरान डीएसपी नारायण चंद और सुरक्षा प्रभारी अमरजीत भी मौके पर पहुंचे थे। मृतक के स्वजनों ने बताया कि करीब आठ साल पहले जताई वासी आत्माराम के साथ जगदीश का झगड़ा हुआ था। तब गांव में पंचायत हुई थी। उसमें जगदीश पर छह लाख रुपये दंड लगाया था। यह राशि आत्माराम को देकर समझौता हुआ था। इसके बाद जगदीश ने परिवार और खेतीबाड़ी पर ध्यान देना शुरू कर दिया था। आरोप है कि आत्माराम ने आठ साल पुरानी रंजिश निकालते हुए रविवार सुबह सैर पर निकले जगदीश पर हमला करके उसकी हत्या कर डाली।

Edited By: Jagran