हिसार, जेएनएन। हिसार के शिव नगर कॉलोनी के एक युवक ने रविवार की देर रात राष्‍ट्रपति भवन के बम स्‍क्‍वायड दस्‍ते को फोन कर दिया। फोन पर युवक ने कहा कि हमारे पड़ोस में बम बनाए जा रहे हैं। इसके बाद वहां से हिसार कंट्रोल रूम को फोन कर सूचित किया गया कि मामले की जांच की जाए। यह सुनते ही पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया और नंबर को ट्रेस कर युवक तक पुलिस पहुंच गई। पुलिस युवक को पूछताछ के लिए अपने साथ ले गई।

मगर पूछताछ में जो सामने आया उसे सुन पुलिस भाैचक्‍की रह गई। पुलिस को युवक के परिजनों ने बताया कि उनका बेटा दिवांक मानसिक रोगी है और उसका इलाज चल रहा है। सोमवार की सुबह जब सिविल अस्‍पताल में पूछताछ की गई तो पाया कि परिजन सच बोल रहे हैं और युवक मानसिक रोगी है। युवक के पिता ने बताया कि साल 2014 में एक झगड़े के दौरान दोस्‍तों ने उनके बेटे दिवांक के सिर पर ईंट मार दी थी। इसके बाद दिमागी चोट के कारण दिवांक का मानसिक संतुलन बिगड़ गया। इसके बाद पुलिस ने राहत की सांस ली और युवक को पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया।

मानसिक रोगी को कैसे मिला बम स्‍कवायड दस्‍ते का नंबर, अभी भी पहेली

पूछताछ में ये बात तो स्‍पष्‍ट हो गई कि फोन करने वाला युवक मानसिक रोगी है। मगर युवक को राष्‍ट्रपति भवन के बम स्‍क्‍वायड दस्‍ते का संपर्क सूत्र कहां से मिला यह अभी तक पता नहीं लग पाया है। युवक बीए पास है मगर वह सही से बोल भी नहीं पाता है। इसलिए बार-बार पूछताछ के बाद भी यह पता नहीं लग पाया कि उसे फोन करने का ख्‍याल कैसे आया और नंबर भी कहां से मिला।

मामले की जांच की जारी है

सूर्य नगर चौकी प्रभारी मनमोहन सिंह ने बताया कि युवक ने राष्‍ट्रपति भवन के बम स्‍क्‍वायड दस्‍ते को बम बनाए जाने की बात कह फोन कर दिया था। पूछताछ में पाया गया कि युवक मानसिक रोगी है और उसका इलाज चह रहा है। अभी के लिए युवक को छोड़ दिया गया है मगर मामले की जांच जारी है।

Posted By: manoj kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस