संवाद सहयोगी, हांसी: कोरोना महामारी से देश को बचाने के समय लोग मदद के लिए आगे आ रहे हैं। शहर के मोची मोहल्ले में एक बुजुर्ग टेलर घर पर कपड़े के मास्क बनाकर लोगों को मुफ्त बांट रहे हैं। 75 वर्षीय शिखरचंद रोहिल्ला हर रोज की दिनचर्या में दो घंटे का समय मास्क बनाने के लिए निकालते हैं व अपने वार्ड 19 में जरूरतमंद लोगों को मास्क बांटते हैं। ऐसा वह लॉकडाउन के शुरुआती दिनों से कर रहे हैं व अब तक करीब 250 मास्क बनाकर बांट चुके हैं। कोरोना संकट के इस समय में समाज सेवा में लगे शिखरचंद रोहिल्ला टेलर का काम करते थे, लेकिन अब बीते पांच सालों से वह घर पर ही रहते हैं। उनके तीनों बेटे नौकरी पेशा हैं। शिखरचंद ने बताया कि इस महामारी के संक्रमण को रोकने के लिए मास्क पहनना जरूरी है। समाज में गरीब लोगों हर रोज नया मास्क खरीदने में सक्षम नहीं हैं। ऐसे में पीएम मोदी के आह्वान पर उन्होंने घर पर कपड़े के मास्क बनाकर बांटने का निर्णय, सालों से डिब्बे में बंद मशीन को निकाला और उसे दुरुस्त कर मास्क बनाना के काम शुरू कर दिया। शिखरचंद दिन में दो घंटे मास्क बनाते हैं और हर रोज करीब 30-35 मास्क बनाकर लोगों को बांटते हैं। वार्ड 19 के पार्षद अशोक कुमार ढालिया ने कहा कि वार्ड में कोई व्यक्ति इस प्रकार की जनसेवा में काम कर रहा है यह उनके लिए गर्व की बात है। कपड़े के मास्क धोने के बाद फिर से इस्तेमाल किए जा सकते हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस