जागरण संवाददाता, हिसार : लाला लाजपतराय पशुचिकित्सा एवं पशुविज्ञान विश्वविद्यालय के भैंस फार्म को उत्कृष्ट कार्य के लिए सर्वश्रेष्ठ केंद्र घोषित किया गया है। भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान दिल्ली की वार्षिक मूल्यांकन समिति की बैठक में यह घोषणा हुई। यह बैठक पूर्वीय क्षेत्रीय संस्थान पटना में 21 व 22 जुलाई को पशुविज्ञान उपनिदेशक डा. जेके जैना की अध्यक्षता में हुई थी।

बैठक में आइसीएआर दिल्ली के पशु प्रजनन विभाग के सहायक निदेशक डा. आरएस गांधी, भैंस अनुसंधान संस्थान के निदेशक डा. इंद्रजीत ¨सह, पशुविज्ञान विश्वविद्यालय बिहार के कुलपति डा. रामेश्वर ¨सह के अलावा देशभर के वैज्ञानिक मौजूद रहे।

लुवास के पशु उत्पादन प्रबंधन के विभागाध्यक्ष डा. हरीश गुलाटी एवं डा. सुभाशीष साहू ने बताया कि बैठक में भैंस नस्ल सुधार के लिए विभिन्न मापदंडों पर विचार-विमर्श हुआ और विभिन्न केन्द्रों का मूल्यांकन किया गया। इसमें लुवास के भैंस फार्म को उत्कृष्ट कार्य के लिए 2016-2017 का सर्वश्रेष्ठ केंद्र घोषित किया गया।

लुवास विश्वविद्यालय के कुलपति डा. गुरदियाल ¨सह ने इस उपलब्धि के लिए विभाग में कार्यरत सभी कर्मचारियों को बधाई दी है। विश्वविद्यालय के अनुसंधान निदेशक डा. पीके कपूर ने पशु उत्पादन प्रबंधन विभाग की इस उपलब्धि पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए सभी वैज्ञानिकों की सराहना की।

Posted By: Jagran