जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: समाज में हमेशा आपसी प्यार प्रेम बना रहे। छोटे बड़े का फर्क ना हो। जात-बिरादरी का किसी प्रकार का कोई मतभेद ना रहे। शहर के प्रमुख व्यवसायी कमलजीत सिंह हमेशा समाज को हमेशा जोड़े रखने के प्रयास में जुटे रहते हैं। उनको यह प्रेरणा अपने स्वर्गीय पिता हरि सिंह से मिली। उनके पिता ने भी हमेशा समाज को जोड़कर रखने का काम किया।

गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी, न्यू कालोनी के सदस्य कमलजीत सिंह शहर के पुराने टेंट व्यवसायी हरि सिंह के बेटे हैं। उनका शहर में पुराना टेंट का कारोबार था। कमलजीत सिंह बताते हैं कि समाज में आपसी मनमुटाव होने के कारण कई तरह के विवाद पैदा हो जाते हैं। छोटे-छोटे मामलों को लेकर लोग पुलिस थाना पहुंच जाते हैं। पुलिस और कचहरी के चक्कर काटने में कई लोगों का काफी नुकसान हो जाता है। छोटे-मोटे मामलों को आपसी स्तर पर निपटाने के लिए उनके पिता हरि सिंह ने समाज के लिए हमेशा काम किया। हमेशा लोगों को यही संदेश दिया कि छोटे-मोटे विवाद के चलते अपना नुकसान ना करें। भाईचारा और आपसी प्रेम भाव बनाए रखने से से ही समाज की तरक्की होती है।

कमलजीत सिंह बताते हैं कि वे अपने कारोबार के साथ-साथ गुरुद्वारा में भी सेवा में लगे रहते हैं। गुरुद्वारा में भी सभी धर्मों के लोगों के लिए लंगर चलता है। वहां किसी प्रकार का छोटे बड़े तथा अमीर गरीब का फर्क नहीं देखा जाता है। समरसता बड़ा विषय है। समाज में समरसता बनी रहे इस पर सभी को विचार करने की जरूरत है। कमलजीत जरूरतमंद परिवारों की मदद बगैर जाति धर्म देखे मदद करते हैं। शहर में जब भी कोई विवाद होता है उसे हल करने में वह प्रशासन की भी मदद करते आए हैं।

Edited By: Jagran