संवाद सहयोगी, सोहना (गुरुग्राम): सोमवार को संदिग्ध हालात में हुई महिला की मौत के मामले में आरोपित पति तथा उसके स्वजन की गिरफ्तारी नहीं होने पर महिला के मायके वालों ने सिटी चौकी के सामने प्रदर्शन किया। महिला के पिता ने आरोप लगाया कि उनकी बेटी की हत्या कर आत्महत्या का रूप देने के लिए पंखे से लटका दिया, लेकिन पुलिस सख्त कार्रवाई नहीं कर रही है। प्रदर्शन के दौरान महिला की मां बेहोश हो गई। उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां होश आया। प्रदर्शन कर रहे लोगों का वीडियो बनाने पर एक युवक को पुलिसकर्मी ने धमकाया तो लोग गुस्से में आ गए और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की।

फरीदाबाद के बल्लभगढ़ निवासी ललिता की शादी राम मंदिर सोहना निवासी अरुण के साथ हुई थी। सोमवार को ललिता की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। उसके ससुराल वालों का कहना ललिता ने फांसी लगाकर जान दी, जबकि ललिता के पिता यादराम ने पुलिस को शिकायत दी थी कि उनकी बेटी की पति अरुण तथा उसके माता-पिता तथा बहन ने मिलकर हत्या की है। ललिता नौकरी करना चाहती थी पर उसे नौकरी नहीं करने देने के साथ-साथ दहेज के लिए पीटा जाता था।

पुलिस ने शिकायत लेने के बाद कार्रवाई नहीं की तो मंगलवार को यादराम तथा उनके संबंधी पुलिस चौकी के सामने धरने पर बैठ गए। तीन घंटे तक धरने पर बैठे रहे। थाना प्रभारी ने उचित कार्रवाई करने का आश्वासन दिया तो लोग उठे। पुलिस ने अरुण तथा अन्य के खिलाफ मामला दर्ज कर अरुण को हिरासत में ले लिया है। थाना प्रभारी ने कहा जांच के बाद आगे की कार्रवाई होगी। ललिता की शादी करीब साढ़े तीन साल पहले हुई थी। उसे ढाई साल का एक बेटा है।

Edited By: Jagran