मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

संवाद सहयोगी, बादशाहपुर : टीकली गांव के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में छात्रों ने जल संरक्षण जागरूकता को लेकर रैली निकाली। जलदूत डॉ. परमेश्वर अरोड़ा ने सभी छात्रों को जल बचाने की शपथ दिलाई।

स्कूल में जल संरक्षण कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे डॉ. परमेश्वर अरोड़ा ने कहा कि एक छोटी सी पहल बड़ा बदलाव ला सकती है। आज हम अगर बूंद-बूंद पानी बचाने का प्रयास करेंगे तो कल हमें जल संकट जैसी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि किसी भी समस्या से निपटने के लिए जागरूकता सबसे बड़ा हथियार है। अगर समाज किसी समस्या के प्रति जागरूक हो जाए तो वह समस्या अपने आप निपट जाएगी। उन्होंने कहा कि आज जल संरक्षण बेहद जरूरी है।

डॉ. परमेश्वर अरोड़ा ने सभी स्कूलों की छतों पर वाटर हार्वेस्टिग लगाए जाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि बरसात का पानी बेवजह बर्बाद हो जाता है। वाटर हार्वेस्टिग लगाकर वर्षा के जल का संचयन किया जा सकता है। उन्होंने स्कूल स्टाफ को वाटर हार्वेस्टिग का प्रोजेक्ट भी उपलब्ध कराने को कहा। स्कूल के छात्र-छात्राओं ने जल संरक्षण की जागरूकता के लिए पूरे गांव में प्रभात फेरी निकाली।

स्कूल प्रधानाचार्य आशा मदान ने कहा की छात्रों को पानी बर्बाद न होने देने के लिए आगे आना होगा। घरों में बिना वजह बर्बाद होने वाले पानी को बचाकर जल संरक्षण किया जा सकता है। रैली में स्कूल टीचर वैशाली शर्मा, संजय, कृष्णा जैन, प्रवीन यादव, पेम सिंह, रामअवतार ठाकरान, सपना के अलावा सभी स्टाफ सदस्य मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप