संवाद सहयोगी, बादशाहपुर : यूनाइटेड गुरुग्राम आरडब्ल्यूए (यूजीआर) की बैठक सेक्टर-52 स्थित आरडी सिटी में हुई। बैठक में सभी आरडब्ल्यूए के प्रतिनिधियों ने समस्याओं के समाधान के लिए मंथन किया। आरडब्ल्यूए को संवैधानिक शक्तियां प्रदान करने के लिए हरियाणा रजिस्ट्रेशन एंड रेगुलेशन एक्ट में बदलाव के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल को ज्ञापन देने का निर्णय लिया गया। आरडब्ल्यूए को वैल्यू एडेड सर्विसेज का बिल बनाने के लिए अधिकार दिए जाने पर भी चर्चा की गई। बैठक की अध्यक्षता यूजीआर के कन्वीनर प्रवीण यादव ने की।

यूजीआर का गठन आरडब्ल्यूए के समक्ष आने वाली आम समस्याओं का समाधान करने के लिए किया गया है। इसमें शहर की करीब 125 आरडब्ल्यूए शामिल हैं। यूजीआर की बैठक में आरडब्ल्यूए को वैल्यू एडेड सर्विसेज के बिल बनाने का अधिकार दिए जाने पर चर्चा हुई। सभी ने एक स्वर में कहा कि हरियाणा रजिस्ट्रेशन एंड रेगुलेशन एक्ट में कई तथ्यों को लेकर नीति स्पष्ट नहीं है। 29-30 अप्रैल को आरडब्ल्यूए की समस्याओं के समाधान के लिए आयोजित कांक्लेव में भी आरडब्ल्यूए को संवैधानिक दर्जा दिए जाने की बात रखी गई थी। प्रवीण यादव ने कहा कि सभी आरडब्ल्यूए से हस्ताक्षर कराकर मुख्यमंत्री को समस्याओं के समाधान के लिए ज्ञापन दिया जाएगा। साईं कुंज आरडब्ल्यूए के राकेश राणा ने कहा कि नगर निगम में प्रापर्टी आइडी बनाने में धांधली की जा रही है। प्रापर्टी आइडी बनाने वाली एजेंसी के कर्मचारी जानबूझकर लोगों के गलत नाम तथा पते डाल रहे हैं। इसके कारण लोगों को परेशानी हो रही है। आरडी सिटी की चैताली मंढोत्रा ने कहा कि नगर निगम के आधीन सोसायटी आने के बाद बिजली आपूर्ति का काम भी बिजली निगम के आधीन किया जाना चाहिए। बिल्डर के आधीन बिजली आपूर्ति होने की वजह से उपभोक्ताओं को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सेक्टर-54 सनसिटी आरडब्ल्यूए के अध्यक्ष कुलदीप राणा तथा सेक्टर 45 आरडब्ल्यूए के अध्यक्ष अश्वनी ने रखरखाव राशि वसूलने के लिए अधिकार देने की बात प्रमुखता से रखी। सेक्टर-23 आरडब्ल्यूए की अध्यक्ष नीरू यादव ने भी बैठक में अपनी बात रखी। मेफिलड गार्डन के कर्नल (से.) आरके शर्मा ने कहा कि सोसायटी एक्ट में कई बदलाव करने की जरूरत है।

Edited By: Jagran