जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: न्यू अमनपुरा इलाके में किराये पर रहने वाले मूल रूप से बिहार के छपरा जिले के गांव भूमिहारा निवासी अजय सिंह ने 22 नवंबर को जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली। उनकी पुत्री सुदीति सिंह की शिकायत पर सेक्टर-पांच थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

सुदीति ने पुलिस में दी शिकायत में बताया कि अजय सिंह देनदारों से काफी प्रताड़ित थे। इस वजह से मानसिक तनाव से गुजर रहे थे। कुछ दिन पहले एक देनदार ने उनके साथ हाथापाई भी की थी। इन सभी वजहों से उन्होंने जहरीला पदार्थ खा लिया। बेटी का कहना है कि उनके पिता नेक दिल एवं ईमानदार इंसान थे। उन्होंने कभी भी देनदारों को पैसा देने से इनकार नहीं किया।

बेटी ने आत्महत्या के लिए बालाजी फाइनेंस के संदीप, केडी फाइनेंस के विनीत, चौधरी फाइनेंस के जीत कौर सहित कई अन्य को जिम्मेदार ठहराया है। जांच अधिकारी देवचरण का कहना है कि अजय कुमार पीजी चलाने के साथ ही टैक्सी चलाने का भी कारोबार करते थे। शिकायत के मुताबिक उनके ऊपर काफी कर्ज हो गया था। इस वजह से वह परेशान चल रहे थे। छानबीन चल रही है। जल्द ही पूरी सच्चाई सामने लाई जाएगी।

फंदे से लटका मिला लैब तकनीशियन का शव जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: धन सिंह एन्क्लेव में किराये पर रहकर लैब तकनीशियन का काम करने वाले मूल रूप से हिसार जिले गांव खांडा खेड़ी निवासी 35 वर्षीय रविद्र कुमार का शव मंगलवार को कमरे में फंदे से लटका मिला। वह रविवार को ही पत्नी और बच्चों को गांव छोड़कर आए थे। कमरा अंदर से बंद था। इससे साफ है कि उन्होंने आत्महत्या की। सेक्टर-9ए थाना पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी है।

रविद्र कुमार प्रतिदिन नजदीक की दुकान से दूध लेने जाते थे। सोमवार को दूध लेने नहीं पहुंचे। जब मंगलवार को दूसरे दिन भी दूध लेने नहीं पहुंचे तो दुकानदार कमरे पर पहुंचा। उसने खिड़की से देखा तो शव फंदे से लटका हुआ था। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव उतारकर पोस्टमार्टम में रखवा दिया। स्वजन के आने के बाद बुधवार दोपहर पोस्टमार्टम कराकर शव उन्हें सौंप दिया।

स्वजन ने किसी के खिलाफ कोई शिकायत नहीं दी है। उनका कहना है कि रविद्र मानसिक रूप से परेशान चल रहे थे। किस वजह से परेशान चल रहे थे, यह स्पष्ट नहीं किया। जांच अधिकारी एसआइ बिजेंद्र सिंह का कहना है कि रविद्र के बारे में आसपास के लोगों से पूछताछ की गई लेकिन सभी कहना है कि वह मानसिक रूप से परेशान नहीं थे। छानबीन चल रही है। जल्द ही पूरी सच्चाई सामने आ जाएगी।

Edited By: Jagran