जागरण संवाददाता, गुरुग्राम : सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों की प्रतिभाओं और उनके हुनर को तलाशने के लिए 'कल्चरल फेस्ट' का आयोजन किया जाएगा। इसके लिए माध्यमिक शिक्षा निदेशालय ने राज्य के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दे दिए हैं।

शिक्षा निदेशालय के निर्देश के अनुसार कक्षा पांचवीं से लेकर आठवीं और कक्षा नौवीं से लेकर बारहवीं तक विद्यालय स्तर से लेकर राज्य स्तर तक कल्चरल फेस्ट 2018 आयोजित किया जाएगा। यह कार्यक्रम दो समूहों में किया जाएगा। राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं के लिए राज्य स्तर पर प्रथम आने वाली टीमों को ही भेजा जाएगा। जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी प्रेमलता यादव ने बताया कि विभिन्न प्रकार की सांस्कृतिक गतिविधियां और प्रतियोगिताएं विद्यार्थियों की क्षमता और प्रतिभाओं के प्रदर्शन के लिए मंच प्रदान करती हैं। इन्हीं प्रतियोगिताओं के जरिए विद्यार्थियों का मनोबल बढ़ता है।

खंड के मौलिक शिक्षा अधिकारी कार्यक्रम के लिए स्कूल का चयन करेंगे। इस कार्यक्रम के लिए राज्य के सभी खंडों को 59,000 रूपए की राशि दी जा चुकी है। प्रतियोगिताओं में विजेता विद्यार्थियों को ईनाम राशि दी जाएगी जो विद्यार्थियों के बैंक खाते में जमा की जाएगी।

--

ये होंगी गतिविधियां

नृत्य - एकल और समूह नृत्य

संगीत- एकल गान, रागिनी, समूह गान

लघु नाटिका

सांझी

वाद-विवाद प्रतियोगिता

--

वर्जन

ऐसे कार्यक्रमों के जरिए विद्यार्थियों में छुपी प्रतिभाओं को तलाशकर उन्हें एक मंच दिया जाता है। क्लचर फेस्ट प्रतियोगिताओं में विजेता विद्यार्थियों को पुस्कार दिया जाएगा। विद्यार्थियों को भी ऐसे कार्यक्रमों में हिस्सा लेना चाहिए।

- प्रेमलता यादव, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी, गुरुग्राम

Posted By: Jagran