मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, नया गुरुग्राम: गैर सरकारी संस्था 'करो संभव' व जुआना टेक्नोलॉजी के संयुक्त प्रयास से सेक्टर 54 स्थित सनसिटी स्कूल में इलेक्ट्रॉनिक वेस्ट निस्तारण पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। करीब चार घंटा चले कार्यक्रम में शहर के 25 विद्यालयों के बच्चों ने हिस्सा लिया व विभिन्न प्रतियोगिताओं के जरिये लोगों को ई-वेस्ट निस्तारण के बारे में जागरूक किया। विद्यार्थियों के साथ-साथ विभिन्न संस्थाओं से पहुंचे विशेषज्ञों ने भी ई-वेस्ट को लेकर चर्चा की।

ई-वेस्ट के प्रति जागरूकता जरूरी

कार्यक्रम में जुआना टेक्नोलॉजी की निदेशक स्वाति गांगुली ने बताया कि कबाड़ के रूप में एकत्र ई-वेस्ट से कबाड़ वाले प्लास्टिक या धातु निकालकर उसे आगे बेच देते हैं। जबकि इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में प्रयुक्त रसायन वैसे ही खाली पड़े प्लॉट में छोड़ दिया जाता है, जिससे आसपास के इलाकों में पर्यावरण को कई तरह का नुकसान पहुंचता है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय को ध्यान में रखते हुए ई-वेस्ट के प्रति जागरूक होना पड़ेगा।

बच्चे हैं असल ब्रांड अंबेसडर

कार्यक्रम में उपस्थित विद्यार्थियों व अभिभावकों से करो संभव संस्था की प्रबंधक रिचा चतुर्वेदी ने कहा कि ई-वेस्ट को संभालना और उसे रिसाइकल करना बेहद मुश्किल काम है। ई-कचरे में कई प्रकार के तत्व और मेटल होते हैं जिनसे निकलने वाली जहरीली गैसें पर्यावरण और कचरा बीनने वालों को नुकसान पहुंचाती हैं। कार्यक्रम को विद्यार्थियों से जोड़ने को लेकर उन्होंने कहा कि सरकार की स्वच्छता मिशन के असली ब्रांड अंबेसडर बच्चे ही हैं, अगर बच्चे जागरूक होंगे तो समाज खुद ब खुद जागरूक हो जाएगा।

प्रतियोगिताओं में बच्चों ने लिया हिस्सा

ई-वेस्ट के पर आयोजित कार्यक्रम में नुक्कड़ नाटक, रैंप शो, पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन, वीडियो, मॉडल्स, स्वे प्रजेंटेशन, चिल्ड्रेन क्रिएटेड वेबसाइट, ई-वेस्ट कलेक्शन जैसी प्रतियोगिताओं में सनसिटी स्कूल, लोटस वैली स्कूल, डीएवी स्कूल ,डीपीएस, मीनाक्षी पब्लिक स्कूल, एमिटी इंटरनेशनल स्कूल समेत शहर के 25 विद्यालयों के विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया। साथ ही स्कूलों को श्रेणीबद्ध कर पुरस्कार भी दिया गया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप