जासं, गुरुग्राम: सेक्टर-10 स्थित नागरिक अस्पताल के आरओ प्लांट में पानी न होने के कारण डायलिसिस करवाने पहुंची एक मरीज को बुधवार शाम महरौली रोड स्थित एक निजी अस्पताल रेफर कर दिया गया। लक्ष्मण विहार निवासी आनंद कुमार अपनी पत्नी अल्का शर्मा (58) को लेकर बुधवार शाम करीब सात बजे सेक्टर-10 नागरिक अस्पताल में पीपीपी मॉडल पर बनी कैथ लैब में डायलिसिस करवाने के लिए पहुंचे थे। करीब आधे घंटे तक मरीज को एंबुलेंस में बैठा कर रखा। उसके बाद कहा गया कि डॉक्टर नहीं हैं। कहीं निजी अस्पताल में चले जाएं। डायलिसिस में आरओ के पानी का उपयोग किया जाता है।

सेक्टर-10 नागरिक अस्पताल के पीएमओ डॉ. सरयू शर्मा ने स्वीकार किया कि मरीज को निजी अस्पताल रेफर किया गया है। सीएमओ डॉ. गुलशन अरोड़ा ने कहा कि निजी अस्पताल में बात करके इलाज के पैसे में छूट करवा दी जाएगी। बता दें कि पीपीपी मॉडल पर बनी कैथ लैब का संचालन मैडिट्रिना कंपनी कर रही है। स्वास्थ्य विभाग के साथ हुए एमओयू के अनुसार लैब को 24 घंटे सुविधा है।

Posted By: Jagran