जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: पुलिस लाइन स्थित शहीद स्मारक पर पुष्पांजलि कर शहीदी दिवस मनाया गया। सोमवार को गुरुग्राम पुलिस एवं पुलिस शहीद फाउंडेशन ने शहीदों को श्रद्धांजलि दी। सभी ने दो मिनट का मौन भी रखा।

पुलिस आयुक्त मोहम्मद अकील ने श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि शहीदों का सम्मान ही राष्ट्र का सम्मान है। न केवल शहीदों के प्रति बल्कि उनके परिजनों के प्रति भी सम्मान का भाव होना चाहिए। उनके परिजनों को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होनी चाहिए। सीमाओं को महफूज रखने तथा राष्ट्र की एकता व अखंडता कायम रखने के लिए जवानों ने अपना बलिदान दिया है। उनकी शहादत के सम्मान को बनाए रखना हम सभी की जिम्मेदारी है। गुरुग्राम पुलिस की ओर से श्रद्धांजलि देने वालों में पुलिस उपायुक्त (मुख्यालय) शशांक कुमार सावन एवं पुलिस उपायुक्त (क्राइम) राजीव देसवाल सहित कई अधिकारियों के नाम शामिल हैं। पुलिस शहीद फाउंडेशन की ओर से संगठन के संयोजक एडवोकेट आरएल शर्मा, महासचिव दीपक मैनी, राजकुमार त्यागी, महेंद्र अरोड़ा, गुंजन मेहता, उद्योगपति केके गांधी, बनवारीलाल शर्मा, गुड़गांव इंडस्ट्रियल एसोसिएशन के अध्यक्ष जेएन मंगला, कादीपुर इंडस्ट्रियल एसोसिएशन के अध्यक्ष श्रीपाल, मनीष वर्मा एवं रमेश बत्रा शामिल हुए।

21 अक्टूबर को मनाया जाता है शहीदी दिवस

पुलिस शहीद फाउंडेशन के संयोजक एडवोकेट आरएल शर्मा ने बताया कि 21 अक्टूबर 1959 को सीआरपीएफ के सब इंस्पेक्टर कर्म सिंह के नेतृत्व में 21 जवान लद्दाख सीमा पर गश्त लगा रहे थे उसी समय चीनी सेना ने अचानक से घात लगाकर हमला कर दिया था। जवानों ने चीनी सेना को भारी नुकसान पहुंचाया था। सभी बहादुरी से लड़ते हुए वीरगति को प्राप्त हो गए। उन्हीं की याद में हर साल 21 अक्टूबर को पुलिस शहीदी दिवस मनाया जाता है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस