गुरुग्राम, जागरण संवाददाता: केंद्रीय आवासन एवं शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा शनिवार को जारी किए गए स्वच्छ सर्वेक्षण-2022 के परिणामों में गुरुग्राम ने लगातार बेहतर प्रदर्शन करते हुए 19वां स्थान हासिल किया है। साथ ही गारबेज फ्री सिटी में भी गुरुग्राम को तीन स्टार रेटिंग मिली है। गत वर्ष के स्वच्छ सर्वेक्षण में गुरुग्राम की रैंकिंग 24वीं थी।

नगर निगम गुरुग्राम के आयुक्त मुकेश कुमार आहुजा ने बताया कि केंद्रीय आवासन एवं शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा प्रतिवर्ष देश के विभिन्न शहरों में स्वच्छता के प्रति रुझान को बढ़ाने के लिए स्वच्छ सर्वेक्षण करवाया जाता है। स्वच्छ सर्वेक्षण-2022 में राष्ट्रीय स्तर पर 382 शहरों में गुरुग्राम ने 19वां पायदान हासिल किया है। साथ ही हरियाणा का प्रथम स्वच्छ शहर बनने का ताज भी गुरुग्राम के सिर पर ही सजा है।

नगर आयुक्त ने नागरिकों को दिया श्रेय

उन्होंने इस रैंकिंग का श्रेय गुरुग्राम के नागरिकों को देते हुए कहा कि उनके सहयोग एवं योगदान से गुरुग्राम स्वच्छ सर्वेक्षण-2023 में और भी बेहतर प्रदर्शन करेगा। उन्होंने नागरिकों से आह्वान किया कि वे कचरे को हमेशा अलग-अलग करें। इधर-उधर कचरा न फैलाएं। कचरे को केवल डस्टबिन में डालें तथा कचरा उठाने वाली गाड़ी को ही अपना कचरा सौंपें। नागरिक होम कंपोस्टिंग को अपनाएं तथा 3आर सिद्धांतों अर्थात रियूज, रिड्यूज और रिसाइकल का पालन करें।

टॉप-10 रैंकिंग हासिल करने का लक्ष्य

गुरुग्राम की मेयर मधु आजाद ने कहा कि सभी निगम पार्षदों एवं नागरिकों के सहयोग से ही गुरुग्राम स्वच्छ सर्वेक्षण में लगातार बेहतर प्रदर्शन कर रहा है। आगामी स्वच्छ सर्वेक्षण-2023 में गुरुग्राम को टाप-10 रैंकिंग में शामिल करवाने में कामयाब रहेंगे।

स्वच्छ सर्वेक्षण में गुरुग्राम के प्रदर्शन पर एक नजर

  • वर्ष 2016 में 73 शहरों में स्वच्छता रैंकिंग 37वीं
  • वर्ष 2017 में 434 शहरों में स्वच्छता रैंकिंग 112वीं
  • वर्ष 2018 में 434 शहरों में स्वच्छता रैंकिंग 105वीं
  • वर्ष 2019 में 425 शहरों में स्वच्छता रैंकिंग 83वीं
  • वर्ष 2020 में 425 शहरों में स्वच्छता रैंकिंग 62वीं
  • वर्ष 2021 में 425 शहरों में स्वच्छता रैंकिंग 24वीं

Edited By: Satyendra Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट