गुरुग्राम [आदित्य राज]। गुरुग्राम के सेक्टर-46 के एक खाली प्लाट में शुक्रवार को 12 बोर के 19 जिंदा कारतूस मिलने से सनसनी फैल गई है। कारतूस पालीथीन में रखे थे। इनमें से 18 कारतूस लाल रंग के हैं जबकि एक काले रंगे का है। सेक्टर-50 थाना पुलिस ने कारतूसों को कब्जे में लेकर छानबीन शुरू कर दी है।

अज्ञात के विरुद्ध मामला दर्ज कर लिया गया है। क्राइम ब्रांच की टीम भी छानबीन में जुट गई है। मूल रूप से हिसार के रहने वाले सन्नी खन्ना सेक्टर-46 में संचालित रायल बुर्ज नामक पीजी में रहते हैं। उनके पास ही पीजी के केयर टेकर की भी जिम्मेदारी है। शुक्रवार सुबह नजदीक ही खाली प्लाट में रेहड़ी लगाने वाले शिवराज ने उनसे कहा कि प्लाट में एक सफेद पालीथीन है, जिसमें कुछ सामान रखा है।

सन्नी मौके पर पहुंचे और पालीथीन खोलकर देखा तो उसमें 19 कारतूस थे। उन्होंने पीजी मालिक धीरज शर्मा को जानकारी दी। इसके बाद पुलिस कंट्रोल रूम में सूचना दी। कुछ ही देर बाद सेक्टर-50 थाने की टीम मौके पर पहुंच गई। पालीथीन में एक सफेद रंग के कपड़े का टुकड़ा और एक नीले रंग के फूलदार कपड़े का टुकड़ा भी था। लाल रंग के कारतूसों के पिछले हिस्से में अंग्रेजी में शक्तिमान एक्सप्रेस 12 लिखा है।

दो कारतूसों के पैंदे पर चोट के निशान हैं। काले रंग के कारतूस के पिछले हिस्से पर चार बार 12 लिखा है। ऊपर ब्लैंक बोल्ट कंपोनेंट्स फ्राम इटली मेड इन इंडिया लिखा है। जांच अधिकारी एएसआइ संत कुमार का कहना है कि प्रारंभिक छानबीन के मुताबिक सभी कारतूस 12 बोर के हैं। कारतूस में जंग भी लगा है।

सहायक पुलिस आयुक्त (सदर) संजीव बल्हारा ने बताया कि मामले की छानबीन के लिए एक टीम बना दी गई है। आसपास कुछ दूरी तक जितने भी कैमरे लगे हुए हैं, उन सभी की फुटेज खंगाली जा रही है। जल्द ही पूरी सच्चाई सामने लाई जाएगी। 

गुरुग्राम:  नौ महीने बाद भी नहीं सुलझी विस्फोटकों की गुत्थी

सेक्टर-31 की खाली कोठी में एक मार्च को मिले विस्फोटकों की गुत्थी नौ महीने बाद भी नहीं सुलझ पाई है। कोठी में दो हैंड ग्रेनेड, 15 प्रेक्टिस हैंड ग्रेनेड और 43 गोलियों के खोखे सहित कई विस्फोटक मिले थे। विस्फोटक कोठी के टायलेट में छिपाकर रखे गए थे। आसपास सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं। इसके बाद भी अब तक पुलिस के हाथ खाली हैं। इलाके की सहायक पुलिस आयुक्त डा. कविता का कहना है कि जांच चल रही है। फिलहाल मामले में बताने लायक कुछ नहीं है।

Edited By: Abhishek Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट