गुरुग्राम, जागरण संवाददाता। ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (ग्रेप) का पालन सरकारी महकमे ही नहीं कर रहे हैं। एलिवेटेड हाईवे सोहना रोड के निर्माण में लापरवाही बरती जा रही है। इस हाईवे का निर्माण एनएचएआइ द्वारा कराया जा रहा है, लेकिन ग्रेप के नियमों के तहत पानी का छिड़काव नहीं होने से प्रदूषण फैल रहा है।

काफी ज्‍यादा है धूल

इस सड़क पर निर्माण के नजदीक धूल इतनी है कि सड़क पर कुछ नजर नहीं आता। निर्माण सामग्री को भी खुले में रखकर नियमों की अवहेलना की जा रही है। धूल-मिट्टी और प्रदूषण के कारण इस सड़क से गुजरने वाले लाखों लोगों को परेशानी हो रही है।

आसपास की सोसाइटी वाले भी हैं परेशान

इसके अलावा धूल उड़कर आसपास की सोसायटी और रिहायशी इलाकों तक पहुंच रही है। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड गुरुग्राम के अधिकारियों का कहना है कि इस संबंध में एनएचएआइ और हाईवे का निर्माण कर रही दोनों एजेंसियों के खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी किया जा चुका है।

नोटिस भेजने के बाद भी नहीं हो रहा पालन

हालात ये हैं कि नोटिस भेजने के बावजूद ग्रेप का पालन नहीं किया जा रहा है। सड़क से उठ रहा धूल का गुबार सेक्टर-51 की खस्ताहाल सड़क से रोजाना धूल का गुबार उठ रहा है। प्रदूषण ज्यादा होने के कारण इस क्षेत्र में सांस लेने में भी परेशानी होती है।

नहीं हो रहा पानी का छिड़काव

सरकारी विभागों की लापरवाही के कारण इस सड़क पर पानी का छिड़काव नहीं किया जा रहा है। वहीं कुलदीप सिंह, क्षेत्रीय अधिकारी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड गुरुग्राम ने बताया कि सोहना रोड पर निर्माण कार्य के दौरान प्रदूषण फैलाने और ग्रेप की पालना नहीं करने पर एनएचएआइ और दोनों निर्माण कंपनी को तीन दिन पहले कारण बताओ नोटिस भेज दिया गया है।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस