गुरुग्राम (आदित्य राज)। शहर के सबसे बड़े पानी माफिया बनने की चाहत रखने वाले गैंगस्टर सुनील उर्फ तोता के गैंग के छह इनामी बदमाशों को क्राइम ब्रांच की पालम विहार टीम ने बुधवार रात द्वारका एक्सप्रेस-वे से गिरफ्तार कर लिया। उनकी पहचान गुरुग्राम जले के गांव गढ़ी हरसरू निवासी हितेश उर्फ सोनू, गांव धनवापुर निवासी राहुल उर्फ लंबू, गांव खुर्रमपुर निवासी रोहित व ललित उर्फ कालू, दिल्ली के गांव घोघा निवासी नीरज एवं झज्जर जिले के गांव दुबलधन निवासी नीरज के रूप में की गई।

किसी वारदात को अंजाम देने की फिराक में घूम रहे थे सभी

सभी किसी वारदात को अंजाम देने की फिराक में घूम रहे थे। उनके कब्जे से दो रिवाल्वर, एक कट्टा, 28 कारतूस, दो मैगजीन, एक डंडा, एक लोहे का पाइप, एक सरिया, एक स्कार्पियो बरामद की गई है। सभी के खिलाफ गुरुग्राम के अलावा झज्जर एवं दिल्ली में लड़ाई-झगड़ा, अपहरण, लूट, डकैती, छीनाझपटी, हत्या, हत्या के प्रयास, मादक पदार्थों की तस्करी, अवैध हथियार रखने से संबंधित लगभग 60 मामले विभिन्न थानों में दर्ज हैं। केवल इसी महीने अब तक इनके खिलाफ विभिन्न थानों में छह मामले दर्ज हो चुके हैं। सभी के ऊपर पांच-पांच हजार रुपये का इनाम घोषित था।

सभी बदमाश तोता गैंग के सदस्य

सहायक पुलिस आयुक्त (क्राइम) प्रीतपाल ने बताया कि सभी बदमाश तोता गैंग के सदस्य हैं। ताेता फरार चल रहा है। वह नहीं चाहता कि उसके अलावा कोई और टैंकर से पानी आपूर्ति करने का कारोबार करे। इसी इरादे से गैंग के लोगों ने पिछले एक सप्ताह के दौरान अलग-अलग इलाकों में पांच लोगों के ऊपर हमला किया ताकि आतंक पैदा हो सके।

गांव गढ़ी हरसरू निवासी पंकज भी कंपनियों में पानी आपूर्ति का काम करता है। गैंग के सदस्योें ने उसे मना किया लेकिन वह नहीं माना। इसी रंजिश में 12 जनवरी को गढ़ी-चंदू रोड स्थित शनि मंदिर के नजदीक गिरफ्त में आए बदमाशों ने पंकज के ऊपर जानलेवा हमला कर दिया था। तभी से आरोपितों की तलाश की जा रही थी। जल्द ही गिरोह का मुख्य सरगना गिरफ्त में होगा। दरअसल, तोता चाहता है कि उसके अलावा कोई कंपनियों में पानी की आपूर्ति न करे। इस वजह से ही जो भी लोग इस कारोबार से जुड़े हैं, उनके ऊपर वह निशाना बनाता है। क्राइम ब्रांच की पालम विहार टीम ने इंस्पेक्टर जोगिंदर के नेतृत्व में सराहनीय प्रयास किया है।

नीरज के खिलाफ सबसे अधिक 16 मामले दर्ज

गिरफ्त में आए बदमाशों में सबसे अधिक 16 मामले झज्जर जिले गांव दुबलधन निवासी नीरज के खिलाफ दर्ज हैं। इनमें दो हत्या के मामले भी शामिल हैं। वर्ष 2009, 2014 एवं 2019 के दौरान झज्जर जिले की तीन हत्या मामले में आरोपित है। गांव गढ़ी हरसरू निवासी हितेश के खिलाफ गुरुग्राम जिले के विभिन्न थानों में हत्या के प्रयास सहित 12 मामले दर्ज हैं। गांव खुर्रमपुर निवासी ललित उर्फ कालू के खिलाफ जान से मारने की धमकी देने सहित नौ मामले दर्ज हैं। दिल्ली के गांव घोघा निवासी नीरज के खिलाफ हत्या के प्रयास सहित दो मार्च दर्ज हैं। गांव धनवापुर निवासी राहुल उर्फ लंबू के खिालफ हत्या करने सहित चार मामले दर्ज हैं। गांव खुरर्मपुर निवासी रोहित के खिलाफ जान से मारने की धमकी देने सहित चार मामले दर्ज हैं।

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021