गुरुग्राम [आदित्य राज]। गांव नौरंगपुर रोड पर जिम चलाने वाले मंजीत पहलवान की हत्या करने के तीनों आरोपितों को क्राइम ब्रांच सेक्टर-17 की टीम ने बुधवार रात इफको चौक के नजदीक से गिरफ्तार कर लिया। उनकी पहचान झज्जर जिले के अच्छेज गांव निवासी मनीष, छुछकवास निवासी सोमवीर एवं भिवानी जिले के भवानी खेड़ा निवासी दीपक के रूप में की गई। तीनों से 22 से 24 साल के हैं।

इनसे पहले मुख्य आरोपित व साजिशकर्ता गांव नखड़ौला निवासी धीरज को बुधवार शाम गिरफ्तार किया गया। चारों को बृहस्पतिवार दोपहर अदालत में पेश कर पूछताछ के लिए दो दिन की रिमांड पर लिया गया है। सभी कुख्यात गैंगस्टर अशोक राठी गैंग के हैं। सरगना धीरज है। उसी के कहने तीनों आरोपितों ने वारदात को अंजाम दिया था।

मूल रूप से दिल्ली के गांव वजीरपुर निवासी 41 वर्षीय मंजीत पहलवान गुरुग्राम जिले के गांव शिकोहपुर में अपने मामा कंवरलाल के यहां परिवार सहित रहता था। सोमवार सुबह अपने बच्चों के साथ गांव नौरंगपुर में विकसित पार्क में टहल रहा था। उसी दौरान तीन हथियारबंद बदमाशों ने उसे गोलियों से भून डाला था। उसे 14 गोलियां नजदीक से मारी गई थीं। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी। क्राइम ब्रांच सेक्टर-17 की टीम ने इंस्पेक्टर नरेंद्र चौहान के नेतृत्व में जब जांच शुरू की तो पता चला कि गोलियां मारने वाले आरोपितों ने वारदात को अंजाम देने से पहले या बाद में एक शब्द भी कुछ नहीं बोला था। इससे साफ था कि मुख्य साजिशकर्ता कोई और है। वारदात को अंजाम देने वाले भाड़े के बदमाश हैं।

इसी आधार पर जांच आगे बढ़ाई गई। फिर पता चला कि मंजीत पहलवान की गांव नखड़ौला निवासी धीरज से पिछले कुछ समय से नहीं बन रही थी। इलाके में अखबार वितरण को लेकर दोनों के बीच तकरार चल रही थी। शक के आधार पर धीरज को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो उसने वारदात को अंजाम दिलाने की बात स्वीकार कर ली। उसी से पूछताछ के आधार पर वारदात को अंजाम देने वाले तीनों आरोपित को गिरफ्तार किया गया। तीनों आरोपितों से वारदात में इस्तेमाल ब्रेजा कार बरामद की जा चुकी है। हथियार बरामद नहीं हुए हैं। वैसे चारों से एक अन्य पिस्टल एवं एक कट्टे की बरामदगी की जा चुकी है।

धीरज बना अशोक राठी गैंग का सरगना

कुख्यात गैंगस्टर अशोक राठी की हत्या पिछले वर्ष उसे घर पर ही कर दी गई। उसके बाद से धीरज ही गैंग को ऑपरेट कर रहा है। गैंग अशोक राठी के नाम से ही चल रहा है। धीरज के खिलाफ हत्या सहित कई मामले दर्ज हैं। मंजीत पहलवान हत्याकांड में गिरफ्तार मनीष एवं सोमवीर के खिलाफ भी झज्जर में कई मामले दर्ज हैं।

सहायक पुलिस आयुक्त (क्राइम) प्रीतपाल ने बताया कि मंजीत पहलवान हत्याकांड के लगभग सभी आरोपित गिरफ्त में आ चुके हैं। दो दिन की रिमांड ली गई है। इस दौरान हत्या में इस्तेमाल हथियारों की बरामदगी की जाएगी।

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस