नई दिल्ली/गुरुग्राम [संजीव गुप्ता/आदित्य राज]। ऐसा देखने में आ रहा है कि गुरुग्राम, फरीदाबाद और ग्रेटर नोएडा के रास्ते टिड्डी दल ने बुलंदशहर की ओर रुख कर लिया है। वहीं, दिल्ली सरकार का कहना है कि टिड्डियों का दल दिल्ली क्षेत्र में नहीं पहुंचा है। गुरुग्राम के ही आसपास है। एक टीम दिल्ली के ग्रामीण इलाकों में हालात का जायजा लेने भेजी गई है। टिड्डियों से बचाव के लिए पहले की दिशा निर्देश जारी किए जा चुके हैं। किसानों को अलर्ट किया जा चुका है।

गुरुग्राम-द्वारका एक्सप्रेस-वे के साथ-साथ हवाईअड्डे के पास के इलाकों में  टिड्डियों की मौजूदगी को देखते हुए दिल्ली एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) ने सभी एयरलाइनों के पायलटों को  लैंडिंग के दौरान आवश्यक सावधानी बरतने के लिए कहा गया। 

शनिवार सुबह महेंद्रगढ़, रेवाड़ी और गुरुग्राम के बाद कई किलोमीटर लंबा टिड्डी दल दिल्ली के महरौली और छतरपुर में देखा गया, लेकिन दिल्ली सरकार ने इससे इनकार किया। इसके बाद टिड्डी दल ग्रेटर नोएडा के कई इलाकों में पहुंच गया।

— ANI (@ANI) June 27, 2020

दिल्ली के कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक डॉ डीके राणा बताते हैं कि किसानों को यह कहा गया है कि यदि आपको कहीं भी टिड्डियों के आने की संभावना नजर आए तो आप फौरन इसकी सूचना कृषि विभाग को दें, ताकि दल को काबू करने की दिशा में तत्काल एकीकृत प्रयास शुरू हो।

वहीं, टिड्डियों के हमले को लेकर हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा का बड़ा बयान आया है। उन्होंने कहा कि टिड्डी दल ने प्रदेश के कई जिलों में भारी नुकसान किया है। महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, झज्जर ,गुरुग्राम, मेवात के जिलों में भारी नुकसान हुआ है। इन जिलों में सरकार स्पेशल गिरदावरी कर के नुकसान की भरपाई करें और मुआवजा दिया जाए।

इससे पहले शनिवार सुबह फसलों के लिए तबाही का सबब बनने वाला टिड्डी दल गुरुग्राम पहुंच गया। शहर में लोग एक साथ हजारों टिड्डियों को देखकर डर गए। वहीं, लोगों ने ड्रम, थाली और ताली बजाकर टिड्डियों को भगाने की कोशिश की। प्रशासन ने टिड्डियों के पहुंचने पर लोगों ने घरों की खिड़की दरवाजे बंद करने के लिए कहा है।

गुरुग्राम से पहले महेंद्रगढ़ और रेवाड़ी में भी टिड्डी दल दस्तक दे चुका है। महेंद्रगढ़ में तो शुक्रवार को ही टिड्डी दल पहुंच गया था। इस बीच शनिवार को टिड्डी दलों के आगमन के बीच रेवाड़ी में कृषि मंत्री जेपी दलाल टिड्डियों से हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए शनिवार सुबह यहां के गांव बोहतवास व जाटूसाना सहित कई गांवों में पहुंचे। किसानों से बातचीत करने के साथ खेतों में पहुंचकर नुकसान का जायजा लिया। उनके साथ उपायुक्त यशेंद्र सिंह सहित कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

 

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस